Girlfriend murders BF, buries in courtyard and grows cauliflowers there

murderThe decomposed body of Abhishek Mishra, Vice President of Shri Gangajali Education Society Bhilai was exhumed from a house at Smriti Nagar in the city.
Three persons have been arrested in connection with Abhishek Mishra’s murder, Inspector General of Police (IGP), Durg, Pradeep Gupta informed while addressing a Press conference here on Wednesday.
Notably Abhishek was son of IP Mishra and the President of Shri Gangajali Education Society which runs around a dozen colleges including some top engineering colleges along with pharmacy, nursing and Management colleges in Durg district.
Abhishek was missing since November 9 this year and according to the police, his family members had also received a ransom call after Abhishek’s sudden disappearance.
Three persons Vikas Jain, his wife Kimsi Kamboj, the former employee of a College run by the society and one Ajit Jain have been arrested in this connection, the IGP informed reporters.
According to the police, Kimsi was in touch with Abhishek Mishra after quitting the job in the College.
Mishra allegedly used to force her to maintain contact with him. Kimsi and Vikas who could not stop Mishra from contacting Kimsi planned to kill him along with Ajit Jain who was the couple’s uncle, police said.
Vikas Jain ran a start-up venture ‘Verve Technologies’ in Bhilai, where he used to create science models for Engineering students, Superintendent of Police (SP) Durg Mayank Shrivastava informed.
On November 9, Kimsi called Abhishek at her Chouhan Town located home where Vikas and Ajit were waiting for him.
After he reached her home, the accused duo hit Abhishek with some heavy rod that could have caused his death, the IGP said.
They buried the body in a deep pit dug at Ajit’s rented house at Smriti Nagar, police said.
The accused for misleading investigators abandoned Abhishek’s car in VIP Road in Raipur. Vikas then went to Dhamtari and allegedly made ransom call for confusing cops, police said.
Based on various evidences, Vikas was thoroughly cross-examined wherein he confessed of committing the crime, police claimed.
“For careful investigation, police had scrutinized over 1500 suspected individuals. Around 35 police teams were also sent to 40 different places outside Chhattisgarh,” the IGP mentioned.
BF को गाड़ कब्र पर उगाई थी गोभी, 44 दिन बाद हुआ GF की साजिश का खुलासा
भिलाई।धान का कटोरा कहा जाने वाले छत्तीसगढ़ में गाहे बगाहे क्राइम के ऐसे मामले आते हैं जो राज्य में सुर्खियां बन जाते हैं। इस साल भोपाल के उदयन का मामला सुर्खियों में रहा था। उसने अपने माता-पिता को मारकर रायपुर के अपने घर के आंगन में गाड़ दिया था। ऐसा ही एक मामला दो साल पहले सामने आया था जब एक प्रेमिका ने रायपुर में अपने एक्स बॉयफ्रेंड की चाकू गोदकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं आरोपी महिला ने लाश को घर के आंगन में गाड़कर ऊपर गोभी उगा दी। ये केस अभी कोर्ट में चल रहा है। dainikbhaskar.com अपनी क्राइम सीरीज में आ आज आपको इस ससनीखेज मामले के बारे में बता रहा है।44 दिन बाद सुलझी थी अपहरण की गुत्थी…
– दरअसल छत्तीसगढ़ के शंकरा ग्रुप ऑफ कॉलेज के डायरेक्टर अभिषेक मिश्रा 9 नवंबर 2015 को अचानक लापता हो गए।
– उनकी कार रायपुर एयरपोर्ट रोड पर लावारिस हालत में मिली थी और फोन भी बंद आ रहा था।
– इधर पुलिस अपहरण होने की आशंका के चलते छानबीन में लग गई। बालोदा बाजार में एक सर कटी लाश मिलने पर उसका डीएनए टेस्ट कराया गया। पर वो किसी और की थी।
– इधर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी मामले को संज्ञान में लेते हुए पुलिस को दिशा-निर्देश दिए।
ऐसे मिली लाश
– पुलिस ने 1500 से लोगों से पूछताछ कीऔर 1872 कॉल डिटेल भी चेक किए गए।
– पुलिस को एक मोबाइल नंबर किम्सी जैन नाम की महिला का मिला। किम्सी एक कारोबारी विकास जैन की वाइफ है।
– किम्सी पहले अभिषेक के ग्रुप में काम करती थी। पुलिस को दोनों के अफेयर का भी सुराग मिला।
किम्सी के घर के गार्डन में मिला शव
– पूछताछ के बाद जब पुलिस ने खोजबीन की तो शाव किम्सी के घर के गार्डन में मिला। शव को दफनाकर उसपर गोभी के पौधे लगा दिए गए थे।
– शव को दफनाने के लिए गड्ढा पहले ही तैयार कर लिया गया था। पड़ोसियों ने गड्ढे को लेकर पूछा तो उन्होंने तड़ित चालक लगाने के लिए गड्ढा खोदने की बात की थी।
ये है मर्डर की पूरी कहानी
– अभिषेक 200 करोड़ के शंकरा ग्रुप ऑफ कॉलेज में डायरेक्टर था और छत्तीसगढ़ी फिल्में भी प्रोड्यूस करता था।
– अभिषेक के कॉलेज में किम्सी काम करती थी। उसी वक्त दोनों का अफेयर हो गया। इधर किम्सी की शादी एक बिजनेसमैन विकास जैन से हो गई।
– अभिषेक भी शादी करके सैटल हो गया। किम्सी ने पुलिस को बताया कि अभिषेक पुराने रिश्तों का हवाला देकर ब्लैकमेल कर रहा था और रिश्ता कंटीन्यू करने के लिए दबाव डाल रहा था।
– ये बात किम्सी ने अपने पति विकास को बताई थी। विकास ने अभिषेक को कई बार समझाया पर वो नहीं माना।
– इधर अभिषेक की वाइफ ने किम्सी पर मनगढ़ंत कहानी गढ़ने का आरोप लगाया और कहा कि उसके पति ऐसे नहीं थे।

ऐसे रची साजिश
– इधर विकास ने अपने चाचा अजीत जैन और पत्नी किम्सी के साथ मिलकर अभिषेक को मारने की साजिश रची।
– साजिश के मुताबिक पूरे मामले को नक्सली रंग देना था। साजिश के तहत किम्सी ने विकास के कहने पर अभिषेक को 9 नवंबर को अपने फ्लैट पर मिलने बुलाया। अभिषेक घर पर किसी को बताए बिना वहां चला गया।
– वहां मौजूद विकास ने राड से अभिषेक के सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद विकास ने अपनी ससुराल में ही गार्डन में उसे दफना दिया और किम्सी ने कब्र पर गोभी के पौधे लगा दिए।
– अभिषेक की कार लेकर अपने दोस्त के साथ रायपुर आया और एयरपोर्ट रोड पर लावारिस हालत में छोड़कर भाग गए।
– इधर अभिषेक के घर फिरौती के लिए फोन आया और फोन करने वाले ने लाल सलाम कहा जिससे पुलिस का शक नक्सलियों की ओर जाए।
ये है केस का स्टेटस
– फिलहाल ये मामला कोर्ट में चल रहा है। आरोपी जेल में हैं और ट्रायल चल रहा है।
– आरोपियों पर अभी तक आरोप तय नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *