This 84 years old Muslim soldier of India has taken part in 3 major wars against Pakistan and China

kammu khan soldierHe is the living example of Indian Muslims’ loyalty towards the country. This 84 years old Muslim soldier of India Kammu Khan has taken part in 3 major wars against Pakistan and China. Popular as “Fauji Chacha”, Kammu Khan lives at Mrigwas in Madhya Pradesh. During his 19=year service Kammu Khan won 9 medals.
फौजी चाचा ने लड़ीं 3 लड़ाइयां, चीन और पाक के साथ युद्ध के सुनाते हैं किस्से
मृगवास/भोपाल. फौजी चाचा के नाम से मशहूर 84 साल के कम्मू खां ऐसे एकमात्र सैनिक हैं, जो तीन लड़ाइयों का हिस्सा रह चुके हैं। हालांकि वे इंजीनियरिंग कोर में बतौर फिटर कार्यरत थे, लेकिन सेना के साथ उन्हें भी मोर्चे पर जाना होता था। 19 साल के सेवाकाल में उनको 9 मैडल मिले। किन-किन युद्धों में लिया भाग…
-1953 में सेना में शामिल होने के बाद उन्होंने 1962 के चीन युद्ध, पाकिस्तान के साथ 1965 व बांग्लादेश की 1971 की लड़ाई में हिस्सा लिया।
-फौजी चाचा की याददाश्त आज भी कमाल की है और युद्धकाल की कई घटनाओं को वे पूरी डिटेल के साथ सुनाते हैं।
-1962 की चीन के साथ हुई जंग की याद करते हुए वे बताते हैं कि उस समय वे सिक्किम में तैनात थे।
-उनका काम जंग के दौरान इस्तेमाल होने वाली मशीनरी को सही रखना था। साथ ही बारूदी सुरंगों को लगाना व उन्हें हटाने का काम भी उनकी यूनिट का ही था।
-वे कहते हैं कि उन्होंने उस जंग के दौरान एक चीनी जासूस को पकड़ा था, तब उसने देश में उसके जैसे 6-7 जासूसों के होने की बात भी स्वीकारी।
-1965 की जंग के दौरान वे पुणे स्थित कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग में रहे।
-वे उस जंग में सीधे तौर पर शामिल नहीं हुए, लेकिन उनकी यूनिट शामिल हुई थी।
हमारी सेना ने ढाका में महिलाओं को पाक सेना से छुड़ाया
-1971 की बांग्लादेश जंग में वे कई मोर्चों पर रहे। वेे अपनी यूनिट के साथ बांग्लादेश की राजधानी ढाका तक पहुंचे।
-वे बताते हैं कि वहां करीब 10 हजार महिलाओं को भारतीय सेना ने पाकिस्तानी फौज के चंगुल से मुक्त कराया था। सभी महिलाओं को पूरा सम्मान दिया गया।
-हमारी फौज ने कभी गंदा काम नहीं किया। इन युद्धों के अलावा नागा विद्रोहियों के साथ सेना के संघर्षों में भी वे शामिल रहे। 19 सितंबर 1972 को वे रिटायर हो गए।

One thought on “This 84 years old Muslim soldier of India has taken part in 3 major wars against Pakistan and China”

  1. We proud on you for your sincere services of our country and you are an example not only for minorities but for the whole nation….. More proud I feel for being from Bhopal because I too belong to Bhopal——My father late Haleem Mohiuddin and my uncle Basheer Mohiuddin they were in Bhopal state military ..Gohar Taj—-of-course my father was for a short while in civil air defense force where only 25 nos were selected out of 625 nos and father has succeeded in the selection….

    Mohammad Naseem.

Leave a Reply to Mohammad Naseem. Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *