Derailed coach rams into house, corpses being retrieved, SEE HELPLINE NUMBERS

trainLucknow/Delhi – The Utkal Express from Haridwar to Puri has derailed at Khatauli, Muzzafarnagar in Uttar Pradesh. The Northern Railways has said that five coaches have derailed and 15 to 20 people injured as per initial reports. They are yet to ascertain if there are any casualties. The derailment was apparently due to application of emergency breaks immediately after the train left the Khatauli station.
07:45 pm: National Disaster Management Authority says that approximately 50 have been injured in the accident.
Union Ministers Dr. Sanjeev Balyan and Manoj Sinha to rush to accident site. Mr.Sinha says that an inquiry has been ordered into the accident to ascertain the cause. “Strict action will be taken against any lapse,” he tweets.
07:20 pm: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath tweeted that instructions have been given for all possible help for the proper treatment of the injured passengers.
07:09 pm: Fifteen to twenty passengers injured so far as per initial reports. We are yet to ascertain if there are any casualties, says Northern Railways CPRO Neeraj Sharma.
06:57 pm: Railway Minister Suresh Prabhu says that he is personally monitoring the situation.

Follow
Suresh Prabhu ✔ @sureshpprabhu
I am personally monitoring situation.Hv instructed senior officers to reach site immediately and ensure speedy rescue and relief operations https://twitter.com/khabarnwi/status/898896778556194819 …
6:50 PM – Aug 19, 2017
108 108 Replies 278 278 Retweets 580 580 likes
Twitter Ads info and privacy
UP Health Minister Sidharthnath Singh tweets – “#UtkalExpress derailment have mobilised medical services & instructed CMOs Meerut/Muzafarngr to ensure all help is extended to the injured.”

06:55 pm: An Anti-Terrorism Squad led by DSP Anup Singh has left for the site on the instructions of UP ADG Law and Order Anand Kumar.

Anil Saxena, the Railway spokesperson says that at the moment, the focus is on relief and rescue at the site. “The accident took place on Meerut-Saharanpur section of the Northern Railways division. Five bogies derailed near Khatauli station in UP. No immediate information on casualties yet. Our focus is on providing relief operation to the affected passengers. Not clear what caused derailment,” he adds.⁠⁠⁠⁠

06:50 pm: ADG Law and Order has dispatched police officers of NCR to Meerut. All ambulances of Meerut-Muzaffarnagar have been asked to leave for the accident site. Alert issued to all the hospitals of Meerut, NCR.

06:40 pm: Reports say that six dead bodies have been taken out, and twenty injured till now. Derailment apparently due to application of emergency break immediately after the train crossing Khatauli station.

06:37 pm: NDRF teams mobilised for rescue operation at Khatauli railway station, Muzaffarnagar where the accident took place.
घर में जा घुसा कोच, डिब्बे काटकर निकाले जा रहे हैं लोग; PHOTOS में देखें मंजर
खतौली रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को पुरी-हरिद्वार एक्सप्रेस (उत्कल एक्सप्रेस) के 8 डिब्बे पटरी से उतर गए।
घर में जा घुसा कोच, डिब्बे काटकर निकाले जा रहे हैं लोग; PHOTOS में देखें मंजर
लखनऊ.खतौली रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को पुरी-हरिद्वार एक्सप्रेस (उत्कल एक्सप्रेस) के 8 ड‍िब्बे पटरी से उतर गए। डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने इस हादसे में 5 लोगों की मौत की पुष्टि की है। 35 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। रेलवे के स्पोक्सपर्सन अनिल सक्सेना के मुताबिक शाम 5.50 मिनट पर ये हादसा हुआ। हादसे के बाद डिब्बे एक दूसरे पर चढ़ गए। फंसे लोगों को निकालने के लिए गैस कटर का इस्तेमाल किया जा रहा है
यहां खतौली रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को पुरी-हरिद्वार एक्सप्रेस (उत्कल एक्सप्रेस) के 8 ड‍िब्बे पटरी से उतर गए। जिला प्रशासन ने इस हादसे में 8 लोगों की मौत की पुष्टि की है। 35 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों की संख्या के बारे में अभी तक कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं दिया गया है। स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से राहत-बचाव कार्य किया जा रहा है। रेलवे मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने ट्वीट किया कि वे खुद इस हादसे पर नजर रख रहे हैं और राहत के लिए टीमें रवाना कर दी गई हैं। रेलवे अधिकारी अनिल सक्सेना के मुताबिक शाम 5.50 मिनट पर ये हादसा हुआ। योगी ने दिए जांच के आदेश…
– यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे की हाईलेवल इन्क्वाइरी के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी घायलों को राहत देने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं।
– आदित्यनाथ ने ट्वीट किया, “मुजफ्फरनगर में हुई ट्रेन दुर्घटना दुखद है। रेल हादसे में घायल यात्रियों का समुचित इलाज होगा, हर संभव मदद पहुंचाने के निर्देश दे दिए गए हैं।”
– दिल्ली से NDRF, मेरठ से PAC, मुजफ्फरनगर के डीएम, एसएसपी, सहारनपुर के कमिश्नर, मेरठ के कमिश्नर, नोएडा में तैनात ATS और STF की टीमों को मौके पर रवाना किया गया है। रिलीफ एंड रेस्क्यू ऑपरेशन में तेजी के लिए पीएसी की 9 कंपनियों को खतौली पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं।
ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाए- रेलवे अधिकारी
– रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, “उत्कल एक्सप्रेस का स्टॉपेज खतौली में नहीं है। ट्रेन करीब 105Kmph की रफ्तार से चल रही थी। स्टेशन पार करेत ही ड्राइवर को किसी खतरे की आशंका हुई, जिसके बाद उसने इमरजेंसी ब्रेक लगाया। इसी वजह से डिब्बे पटरी से उतरने की आशंका है।”
राहत के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं- प्रभु
– सुरेश प्रभु ने ट्वीट किया, “मैंने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, ट्रैफिक मेंबर्स और दूसरे अधिकारियों को घटना स्थल पहुंचने के निर्देश दिए ताकि राहत और बचाव कार्य पर नजर रखी जा सके। घायलों को इलाज पहुंचाने और मदद के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। मेडिकल वैन्स घटना स्थल की ओर रवाना की गई हैं।”
– “मनोज सिन्हा घटना स्थल की ओर रवाना हो गए हैं। हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं,वजहों का पता लगाया जाएगा। कोई खामी पाई गई तो कड़ा एक्शन लिया जाएगा।”
– मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद संजीव बालियान घटना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि घटना स्थल पर कुछ बॉडीज देखीं, लेकिन मृतकों की संख्या के बारे में अभी कुछ निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता है।
कहीं आतंकी साजिश तो नहीं?
M
– मुजफ्फरनगर में हुआ हादसा कहीं आतंकी साजिश तो नहीं। इस बात का पता करने के लिए एटीएस की टीम को भी मुजफ्फरनगर के खतौली भेजा गया है। एटीएस के एएसपी अनूप सिंह घटना स्थल पर जा रहे हैं।
हेल्पलाइन नंबर
डीएम, मुजफ्फरनगर- 9454417574
एसएसपी, मुजफ्फरनगर- 9454400314
सीएमओ, मुजफ्फरनगर- 9412333612, 9634092001
एसपी सिटी, मुजफ्फरनगर- 9454401127
एसडीएम खतौली- 9454417008
सीओ खतौली- 9454401611
एसओ जीआरपी, मुजफ्फरनगर- 9454404449
रेलवे कंट्रोल रूम- 0131-2645238
आरपीएफ- 0131-2437160

ये ट्रेनें रोकी गईं
– हादसे के बाद देहरादून-सहारनपुर-दिल्ली रूट पर दर्जनों ट्रेनों को जहां-तहां रोक दिया गया है। देहरादून-बांद्रा एक्सप्रेस, सहारनपुर-इलाहाबाद नौचंदी एक्सप्रेस, अंबाला-दिल्ली पैसेंजर, शालीमार एक्सप्रेस, दिल्ली-देहरादून जन शताब्दी को रोक दिया गया है। स्टेशन अधीक्षक जवाहर सिंह ने बताया कि अभी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही है कि ट्रेनों को किस रास्ते दिल्ली निकाला जाए।
40% रेलवे ट्रैक आउट डेटेड
– DainikBhaskar.com ने रेलवे के रिटायर्ड अधिकारियों से बात की। उन्होंने बताया कि, रेलवे में भारी संख्या में वर्कर्स की कमी है। वहीं, आउट डेटेड मैटेरियल से काम चलाया जा रहा है, जिस वजह से ये हादसे हो रहे हैं।
– रिटायर्ड अधिकारी और नॉर्दन रेलवे मेन्स यूनियन (एनआरएमयू) के प्रेसिडेंट एसके त्यागी ने बताया कि, ”रेल होदसों का सबसे बड़ा कारण ये है कि हमारे 40 प्रतिशत ट्रैक आउट डेटेड हैं। इसके अलावा कई रूट ऐसे हैं जिनके ट्रैक अक्सर खराब रहते हैं। इन ट्रैक्स को मेंटेन कराकर चलाया जा रहा है। इतना ही नहीं ट्रैक को सुबह और शाम जांच का नियम है। लेकिन मैन पावर की कमी की वजह से ये जांच भी नहीं हो पा रही। ऐसे में हादसे तो होंगे ही।”
– ”ये बातें सारे अधिकारी जानते हैं, फिर चाहे वो मैनेजमेंट हो या निचले स्तर पर काम कर रहे डीआरएम या अन्य कर्मी। कोई पॉलिसी भी बनती है तो वो फाइल इतनी जगह से घूमती है कि दोबारा मिलती ही नहीं। बस कागजों पर सारी चीजें दी जा रही हैं।”
ट्रैक मैन से लेकर यार्ड स्टाफ तक 1 लाख 80 हजार पद खाली
– एसके त्यागी ने बताया कि, ”पिछले 4 साल से रेलवे में ट्रैक मैन, यार्ड स्टाफ, सेफ्टी और फोन मैन जैसे स्टॉफ के 1 लाख 80 हजार से ज्यादा पद खाली पड़े हैं। इन पदों पर भर्ती करने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है।”
– ”ट्रैक की जांच करने में जितने कर्मियों की जरूरत है उस हिसाब से भी कर्मी नहीं हैं। ट्रैक की जांच के लिए करीब 40 हजार पद खाली हैं। 2013 में एक बार खाली पड़े पदों को रेलवे रिक्रूटमेंट सेल (आरआरसी) के जरिए भरने की बात हुई थी, लेकिन आज तक वो प्लान सिर्फ प्लान ही है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *