2 brothers kill brother-in-law for death of sister

murderRajkot: Two brothers kill brother-in-law for death of sister here, brought the body and placed it before their mother saying “O Mother! Here is the culprit of yout daughter’s murder”. Ravo Kiritbhai Wadesa had taken her wife Radha 10 months ago and had murdered her. For this, he was jailed and got released on bail recently. Radha’s brothers Prashand and Harshad along with their fried Param Singh Thakur killed him by striking him with knives 18 times.
बेटों ने जीजा की लाश मां के सामने रखी, कहा-मां, यह है तेरी बेटी का हत्यारा!
राजकोट। खून का बदला खून, यह बात मवडी इलाके में साबित हो गई, जब सालों ने अपने जीजा की हत्या कर उसकी लाश को मां के सामने रखकर कहा-मां ये है तेरी बेटी के हत्यारे की लाश। पुलिस ने इस हत्या से सम्बद्ध तीन लोगों को अरेस्ट कर लिया है। पेरोल पर बाहर आया था जीजा…
मवड़ी इलाके में कृष्णा पार्क के पास 80 फीट रोड पर तिरुपति बालाजी सोसायटी में रहने वाले रवि किरीटभाई वाडेसा ने राधिका से प्रेम विवाह किया था। 10 महीने पहले 24 नवम्बर को रात खाना खिलाने के बहाने रवि अपनी पत्नी राधिका को चोटिला ले गया। वहां जाकर उसने पत्नी की हत्या कर दी। इस आरोप में उसे जेल हो गई थी, 5 दिन पहले ही वह जेल से पेरोल पर रिहा हुआ था। इस पर उसके दो साले प्रशांत और हर्षद ने अपने दोस्त परमसिंह ठाकुर की मदद से सोमवार की दोपहर उसके घर के पास ही चाकू के 18 प्रहार से उसकी हत्या कर दी। बाद में उसकी लाश को घर ले जाकर मां से कहा-मां ये है तेरी बेटी के हत्यारे की लाश।
पुलिस ने तीनों को धर-दबोचा
बाद में लाश को पुष्करधाम के पास छोड़कर तीनों फरार हो गए। परंतु मालवीय नगर पुलिस ने कुछ ही घंटों में तीनों को पकड़ लिया। लाश बुरी तरह से क्षत-विक्षत थी। राधिका ब्यूटी पार्लर चलाती थी। बहन की आत्मा को शांति मिले, इसलिए तीनों आरोपियों ने कार को बहन के ब्यूटी पार्लर के पास ही रख दी थी। जिस कार में ले जाकर रवि ने राधिका की हत्या की थी, उसी कार में दोनों सालों ने मिलकर रवि की हत्या कर दी।
इस तरह से दिया हत्या को अंजाम
हत्या के अपराध में सुरेंद्रनगर जेल में सजा भुगत रहे रवि वाडेसा 5 दिन पहले ही 10 दिनों के लिए पेरोल पर छूटा था। इसकी जानकारी दोनों सालों प्रशांत और हर्षद को मिली। बहन की हत्या का बदला लेने के लिए दोनों ही बेचैन थे। दोनों भाइयों ने अपने दोस्त ऋषि नेपाली के साथ रवि पर कड़ी निगाह रखी। सोमवार की दोपहर रवि स्विफ्ट ककार में आजी चौकड़ी से घर जा रहा था। तब तीनों ने बाइक से उसका पीछा किया। रवि अपने घर के पास कार पार्क कर उतरा ही था कि उसे सामने प्रशांत-हर्षद दिखाई दिए, उनकी आंखों में खून तैर रहा था। रवि यह समझ गया। वह भागा, पर घर के पास कीचड़ होने के कारण वह फिसल गया। इसके बाद प्रशांत-हर्षद वहां पहुंच गए। दोनों ने मिलकर उस पर चाकू से प्रहार किए। जिससे रवि की वहीं मौत हो गई। इसके बाद तीनों ने मिलकर रवि की लाश को कार में डाला। इसके बाद भी दोनों नहीं रुके, चलती कार में दोनों ने उस पर चाकू से कई प्रहार किए। बाद में कार को बहन के ब्यूटी पॉर्लर के पास छोड़कर वहां से चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *