Class II student murdered after failed sexual assault, bus driver and 10 others held

murderA bus conductor was arrested on Friday in connection with the murder of a second grader at a prominent private school in Gurugram (Gudgaon_Haryana-India). The body of a class II student was found inside a toilet in Ryan International School crawling and bleeding profusely before he died.
Police team arrive to investigate after the murder of a 2nd grade student of Ryan International School in Gurugram on Friday. PTI Photo
Police team arrive to investigate after the murder of a 2nd grade student of Ryan International School in Gurugram on Friday. PTI Photo
Sourcesin Gurgaon police said the suspect may have attempted to sexually assault the child.
Varun Thakur, father of victim, said “It is a clear case of murder, don’t know what happened but I am sure its murder.”
“If children are murdered in schools,then on what belief can we leave them for eight hours there,” asked teary-eyed father.
Meanwhile, enraged protesters vandalised school property after news apread about the murder. Also, parents began sit in protest at police commissioner’s office.
According to NewsX reports, the student was found with his throat slashed, possibly by a knife, and it has been speculated as a premeditated murder. Apart from the slit throat, the boy was discovered in a mutilated state with scars on various parts of his body.
The police have filed a murder case under section 302 at Bhondsi police station and started investigation. The police claimed a knife was found near the body. School bus driver and school staff  questioned by the Police.
In May this year, the police booked the principal of the school’s Vasant Kunj branch on charges of negligence when a six-year-old student drowned in the tank of the school building last year.
Ryan International School is located in Site No. 1, Sector 40 Gurugram
गुड़गांव मर्डर: बच्चे का गला रेतने से पहले सेक्शुअल अब्यूज की हुई थी कोशिश
गुड़गांव. यहां रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के बच्चे के मर्डर केस में नया खुलासा हुआ है। न्यूज एजेंसी ने पुलिस के हवाले से बताया कि मर्डर से पहले बच्चे के साथ सेक्शुअल अब्यूज की कोशिश की गई थी। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को अरेस्ट किया है। 10 लोग हिरासत में लिए गए हैं। बता दें कि शुक्रवार सुबह बच्चे की बॉडी स्कूल के टॉयलेट में मिली थी। बच्चे का गला धारदार हथियार से रेता गया था। उसका एक कान भी पूरी तरह कट गया। बच्चा दूसरी क्लास में पढ़ता था। स्कूल ने फोन पर बताया- बच्चे की तबीयत खराब है…
– पिता के मुताबिक, मैंने सुबह 7:55 बजे बच्चे को स्कूल छोड़ा था। वह बहुत खुश था। सुबह 8:10 बजे यानी पंद्रह मिनट बाद स्कूल मैनेजमेंट ने मुझे फोन कर बताया कि बच्चे की तबीयत खराब हो गई है और उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। जब तक हम मौके पर पहुंचे, बच्चे की मौत हो चुकी थी।
– पिता ने कहा कि स्कूल मैनेजमेंट ने मुझे सही जानकारी नहीं दी। यदि वे बेटे को सही समय पर अस्पताल ले गए होते तो उसकी जान बच सकती थी।
– उन्होंने कहा, “ये मर्डर का मामला है। ये कैसे हुआ? ये मुझे पता नहीं पता। लेकिन ये जानता हूूं कि ये हत्या है। जो लोग जिम्मेदार हैं, उन पर तुरंत एक्शन क्यों नहीं हुआ? अगर कोई पिता अपने बच्चे को आठ घंटे के लिए स्कूल छोड़ेगा तो किस भरोसे के साथ छोड़ेगा।’’
बच्चे ने टॉयलेट से बाहर आने की कोशिश की
– पुलिस ने बच्चे की बॉडी के पास से चाकू भी बरामद किया। उसकी गर्दन पर कई निशान भी मिले हैं।
– शुरुआती जांच में पुलिस इसे हत्या का मामला मान रही है। पुलिस स्कूल में लगे 30 सीसीटीवी के फुटेज खंगाल रही है।
– पुलिस के मुताबिक, हमले के बाद बच्चे ने जूझते हुए टॉयलेट के बाहर आने की कोशिश की। उसी वक्त दूसरे बच्चों ने उसे देखा। बच्चों ने स्कूल के माली को बताया और फिर स्कूल मैनेजमेंट बच्चे को हॉस्पिटल ले गया।
बच्चे पर नजर रखी जा रही थी?
– कुछ बच्चों ने बताया कि बच्चा हर दिन स्कूल आने के बाद क्लास में जाने से पहले टॉयलेट जाता था। माना जा रहा है कि हमला करने वाले को उसकी ये आदत पता थी।
– ये भी कहा जा रहा है कि मर्डर में जिस चाकू का इस्तेमाल हुआ, वह एकदम नया था।
स्कूल ने क्या कहा?
– स्कूल की केयरटेकर नीरजा बत्रा ने कहा, ”जब हमने बच्चे को देखा तो वह खून से लथपथ था। वह जिंदा था। हमने एक मिनट भी नहीं गंवाया। हम उसे तुरंत अस्पताल ले गए। पुलिस जांच कर रही है। जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि स्कूल में चाकू कैसे आया?”
चाइल्ड राइट्स कमीशन भी स्कूल पहुंचा
– कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स के के. कृष्णन ने कहा कि हम इस मामले को गंभीरता से ले रहे हैं। हमने एक टीम स्कूल में भेजी है।
पैरेंट्स ने दिया धरना
– घटना के बाद गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर के ऑफिस के बाहर कई पैरेंट्स ने धरना दिया। उन्होंने बच्चे के परिवार के लोगों को इंसाफ दिलाने की मांग की। गुस्साए लोगों ने स्कूल में तोड़फोड़ भी की।
स्कूल के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज हो: NCPCR
– बच्चे के मर्डर के बाद नेशनल कमीशन फॉर चाइल्ड राइट प्रोटेक्शन (NCPCR) की टीम ने शुक्रवार को रेयान इंटरनेशनल स्कूल का दौरा किया।
– NCPCR के मेंबर प्रियंक कानूनगो ने कहा, “हमने पुलिस से कहा है कि स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ लापरवाही बरतने का केस दर्ज हो। विजिट के दौरान हमने देखा कि स्कूल ने टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ का पुलिस वैरिफिकेशन नहीं कराया था। जो ड्राइवर सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा है, वो बच्चों के सर्कुलेशन एरिया में क्या कर रहा था?’
दिल्ली के स्कूलों ने पैरेंट्स को सुरक्षा का भरोसा दिलाया
– गुड़गांव के स्कूल में बच्चे के मर्डर के बाद दिल्ली के स्कूलों ने पैरेंट्स को सुरक्षा का भरोसा दिलाया है।
– नेशनल प्रोग्रेसिव स्कूल्स कॉन्फ्रेंस के एक मेंबर ने कहा, “जो कुछ भी गुड़गांव में हुआ वो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। लेकिन, ये एक अकेली घटना है। स्कूल बच्चों की सेफ्टी के लिए कड़े इंतजाम करते हैं। बाहर वालों को स्कूल में आने की परमिशन नहीं होती है, बच्चे स्कूल के बाहर नहीं जा सकते हैं, ये सामान्य कदम हैं जो उठाए जाते हैं। सभी स्कूलों के बारे ये राय बनाना कि वहां सुरक्षा के सही इंतजाम नहीं होते हैं, ये ठीक नहीं है।”
– बता दें कि इस कॉन्फ्रेंस से दिल्ली के 1000 प्राइवेट स्कूल जुड़े हुए हैं।
– ग्रीनफील्ड्स पब्लिक स्कूल की प्रतिज्ञा मेहता ने कहा, “इस बारे में पहले से ही नियम हैं और इंसान के तौर पर हम किसी भी बच्चे की सुरक्षा से समझौता नहीं कर सकते हैं। लेकिन ऐसे एक्सीडेंट (गुड़गांव केस) हमें सबक सिखाते हैं कि ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। कोई चाकू भीतर कैसे ले जा सकता है? ऐसे कदम उठाए जाने चाहिए, जिससे ऐसे नुकीले ऑब्जेक्ट्स की पहचान हो सके, जो किसी को भी नुकसान पहुंचा सकते हों।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *