Man buries alive brother with JCB machine in love with sister-in-law

murderA man had ne-side love with his sister-in-law, wife of his nephew Vivekanand Sav in Kodarma district of Jharkhand. Accused Sandeep Kumar first offered liquor to the victim and them buried him alive in pit with the help of JCB machine in a jungle. Police recovered body of Vivekanand after 10 days and arrested the accused and JCB operator.
यहां के डोमचांच में भाभी से प्यार हो जाने के कारण एक भाई ने दूसरे की हत्या कर दी। हत्या के आरोप में पुलिस ने विवेकानंद साव मर्डर के मुख्य आरोपी और उसके फुफेरे भाई संदीप कुमार को अरेस्ट कर लिया है। संदीप ने अपना जुर्म कुबूल किया है। पुलिस को दिए बयान में कहा कि वह मृतक विवेकानंद साव की पत्नी लक्ष्मी से एक तरफा प्यार करता है। प्यार में ही कुछ दिन पूर्व उसने अपनी नस भी काट लिया था। शराब पिलाकर गड्‌ढ़े में दफन कर दिया था…
– संदीप ने बताया की अपने प्यार को पाने के लिए विवेकानंद को शराब पिलाने के बहाने नीमासिंघा जंगल ले गया था। जहां शराब पीने के बाद नशे की हालत में अपने जेसीबी ड्राइवर मो. शब्बीर के साथ मिलकर गड्ढे में डालकर जिंदा दफन कर दिया था।
– कोडरमा के एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बुधवार को बताया कि मृतक की पत्नी का उसके पति की हत्या में शामिल रहने के साक्ष्य नहीं मिले हैं।
– मृतक विवेकानंद 31 अगस्त को रात 8 बजे गौरी कॉम्पलेक्स स्थित अपने दुकान से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था। वहीं 10 सितंबर को विवेकानंद का शव पुलिस ने नईटांड जंगल से बरामद किया था।
– जांच के दौरान जेसीबी चालक शब्बीर को 9 सितंबर को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद शब्बीर ने पूरी घटना की जानकारी दी थी।
थाना पहुंचकर मारपीट करने लगे परिजन
– संदीप की गिरफ्तारी की सूचना पर मृतक विवेकानंद के परिजन मंगलवार को महिला थाना पहुंचे और उसके साथ मारपीट करने लगे। पुलिस ने बीच बचाव कर उसे छुड़ाया।
– संदीप अपने मामा के घर रहकर की पढ़ाई करता था। इसी दौरान वह अपने फुफेरे भाई की पत्नी से एकतरफा प्यार करने लगा था। इस मामले में मृतक की पत्नी को भी पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था।
– मृतक की पत्नी लक्ष्मी देवी ने बताया की संदीप कई बार उससे प्यार करने की बात कहता था। उसे अपने साथ भाग जाने के लिए भी कहता था। इसकी जानकारी उसने अपने पति को भी दी थी। लेकिन सभी उसकी बातों को मजाक समझ रहे थे।
ससुराल वालों ने पत्नी को साथ रखने से किया इनकार
– मृतक विवेकानंद की पत्नी से पूछताछ के बाद पुलिस ने महिला के पिता को बुलाकर उसे सुपुर्द करना चाहा। लेकिन पिता ने साथ ले जाने से इंकार कर दिया। पुलिस ने गांव के प्रमुख सत्यनारायण यादव के साथ उसे लेकर उसके ससुराल गई, लेकिन ससुराल वालों ने भी उसे रखने से इंकार कर दिया।
– इसके बाद पुलिस महिला को लेकर वापस थाने लौट गई। मृतक के माता-पिता के अलावा उसके परिवार वालों ने एसपी से मिलकर मृतक के पत्नी के भी हत्या में शामिल रहने पर उसके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। परिवार वालों का कहना था कि हत्या का खुलासा मृतक की पत्नी लक्ष्मी देवी से पूछताछ के बाद ही हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *