Rape attempt on 9 years old in school toilet, sweeper suspected

rapePanipat”: Yet another case of child molestation has been reported from yet another school in India. This time, Rape attempt has been made on 9 years old in The Millieniun School’s toilet at Panipat. For this a sweeper is suspected.

स्कूल टॉयलेट में 9 साल की बच्ची से रेप की कोशिश, स्वीपर पर शक
आधी रात को पुलिस जांच के लिए स्कूल पहुंची। इस दौरान प्रिंसिपल मीडिया के सवालों से बचती रहीं। बाद में भागती हुईं गाड़ी से चली गईं।
पानीपत. यहां के सबसे पॉश एरिया अंसल सुशांत सिटी स्थित ‘द मिलेनियम’ स्कूल में 9 साल की बच्ची से छेड़छाड़ और रेप की कोशिश करने का मामला सामने आया है। इस घटना को स्कूल कर्मचारी ने ही अंजाम दिया। स्कूल मैनेजमेंट मामले को 13 घंटे तक दबाए रहा। रात 8:45 मिनट पर बच्ची के परिवारवाले महिला थाने पहुंचे, तब घटना का खुलासा हुआ। पुलिस ने बच्ची के पिता के बयान पर अज्ञात युवक और स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस आधी रात जांच के लिए स्कूल पहुंची। आरोपी स्कूल का स्वीपर बताया जा रहा है। हालांकि, पुलिस ने इसे बात को ऑफिशियली कंफर्म नहीं किया है।मां कपड़े बदलने लगी तो कमर और गर्दन में मिली खरोंचें…
– मॉडल टाउन एरिया मे रहने वाली बच्ची मिलेनियम स्कूल में चौथी क्लास की स्टूडेंट है। बुधवार को उसका पेपर था। बच्ची के पिता ने सुबह करीब 7:40 मिनट पर उसे स्कूल छोड़ा। उनके पास करीब 9:30 बजे स्कूल से फोन आया। बताया गया कि उनकी बेटी रो रही है।
परिवार वाले एग्जाम खत्म होने से पहले ही उसे घर ले गए। जब उसकी मां उसके कपड़े बदलने लगी तो उसकी गर्दन और कमर पर खरोंच देखकर उन्होंने उससे बात की। इस पर बच्ची ने रोते हुए आपबीती बताई।
– महिला थाने की डीएसपी विद्यावती के अनुसार, ‘बच्ची ने बताया कि वह करीब 8 बजे टॉयलेट गई थी। तभी हरी टी-शर्ट पहने एक युवक वहां आया और उसका मुंह दबाकर छेड़छाड़ की। बच्ची को आरोपी ने किसी को कुछ बताने पर जान से मारने की धमकी दी। विक्टिम की कमर और कंधे पर खरोंच के निशान भी हैं।
– बताया जाता है कि आरोपी ने बच्ची का गला भी दबाया। टॉयलेट से बच्ची रोती हुई बाहर निकली थी। वह डरी हुई थी। इसके बाद टीचर्स ने परिवारवालों को इसकी जानकारी दी।
– मामले की खबर पर एसपी राहुल शर्मा जांच के लिए थाने पहुंचे और बच्ची के पिता से बात की। उन्होंने कहा कि गुरुवार को बच्ची के बयान दर्ज कराए जाएंगे। आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
बयान देने आगे नहीं आया स्कूल मैनेजमेंट
– आधी रात को ही पुलिस टीम ने स्कूल को खुलवाया और सभी पांच स्वीपरों को रात को स्कूल बुलाया उसने बारी-बारी से पूछताछ की। रात करीब 11.46 बजे तक पड़ताल जारी थी। हालांकि, आरोपी का नाम पता नहीं चल पाया था।
– पुलिस टीम ने सबसे पहले स्कूल पहुंचकर सीसीटीवी कैमरों की जांच की, लेकिन बाथरूम के आसपास कोई कैमरा पुलिस को नहीं मिला। अब पुलिस हरे रंग की टी-शर्ट पहने हुए लोगों की पहचान करने में जुटी है।
– प्रिसिंपल विनीता तोमर को भी रात को स्कूल में बुलाया गया, लेकिन वे थोड़ी देर में ही निकल गईं।
– स्कूल मैनेजमेंट ने पुलिस को बताया कि स्कूल में पांच स्वीपर काम करते हैं, रात को ही पांचों को स्कूल में बुलाया गया। पुलिस टीम ने पांचों से अगल-अलग पूछताछ की। पहला शक स्वीपर पर ही जताया जा रहा है।
वारदात के बाद सहमी है बच्ची
– विक्टिम के पिता समेत परिवार के लोगरात को महिला थाने शिकायत लेकर पहुंचे तो उनके साथ बच्ची नहीं थी। पुलिस ने बच्ची को बुलाकर रात को ही उसका मेडिकल करवाया। इस दौरान डीएसपी विद्यावती और महिला थाना की इंचार्ज कविता साथ में थी। बाद में चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर निधि गुप्ता ने भी हॉस्पिटल पहुंचकर परिवारवालों से बातचीत की।
– वारदात के बाद से बच्ची बुरी तरह सहमी हुई है। उसने पुलिस से भी ठीक से बातचीत नहीं की। गुरुवार को पुलिस काउंसिलिंग करवाकर बच्ची से बातचीत करेगी। इसके बाद कोर्ट में उसके मजिस्ट्रेट के सामने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए जाएंगे।
स्कूल में पढ़ाती है बच्ची की मौसी
– मिलेनियम स्कूल में बच्ची की मौसी भी पढ़ाती है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।
– बताया जा रहा है कि जब बच्ची रोती हुई बाथरूम से बाहर आई तो उसने टीचर को सारी बात बता दी थी। लेकिन स्कूल ने कोई एक्शन नहीं लिया। परिवारवालों को भी कुछ नहीं बताया। उसके रोने की बात परिजनों को बताई गई। घर पर जाकर बच्ची ने आपबीती बताई तब भी स्कूल ने हेल्प नहीं किया।
आज बयान जारी कर सकता है स्कूल मैनेजमेंट
– इतना बड़ा और गंभीर मामला होने के बाद भी स्कूल मैनेजमेंट की ओर से कोई बयान देने आगे नहीं आए।
– रात को हुई बातचीत में स्कूल का पीआरओ संबंधी काम करने वाले देवप्रिय ने कहा कि प्रबंधन से बातचीत नहीं हो पा रही है। गुरुवार को ही स्कूल की ओर से कोई आला अधिकारी बयान देंगे।
लापरवाही: क्यों इतने बड़े स्कूल में सभी जगह सीसीटीवी नहीं लगाए
– गुड़गांव के रेयान स्कूल में 7 साल की बच्चे की हत्या के बाद सरकार ने कई तरह के नियम लागू कराने का दावा किया है।
– स्कूलोंने शिक्षा विभाग में हलफनामा भी दिया है कि उनका स्कूल हर स्तर पर सेफ है। लेकिन मिलेनियम स्कूल में बाथरूम के बाहर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे थे। ऐसेमें सवाल तो उठेगा ही, कि कैसे इस हाल में बच्चे सुरक्षित हैं।
बच्चों की सुरक्षा नहीं तो सारी सुविधा बेमानी
बड़े-बड़े प्राइवेट स्कूल। एसी लग्जरी क्लास रूम। हाईटेक एजुकेशन सिस्टम। बड़े डिग्रीधारी टीचर, पर यह सब तब बेमानी हो जाता है, जब हमारे बच्चों की सुरक्षा खतरे में पड़ती है। सुविधाएं न हों तो भी चलेगा। बच्चे सुरक्षित रहने ही चाहिए। किसी को तो यह जिम्मेदारी लेनी ही होगी। स्कूल में सबसे पहले यह जिम्मेदारी प्रिंसिपल की बनती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *