Father first arranges marriage of daughter and then kills her husband

murderManimajra (Amritsar). Saudagar Singh murdered his son-in-law Rafat Ali in honour killing. Rafat, resident of Saharanpur and Saudagar’s daughter Meenu had started loving him. When she insisted on marriage, Saudagar married her to Rafat a few days ago.
After arrest, Saudagar Singh said he wanted to murder Rafat, but waited till marriage since his murder before marriage would have raised doubt against Saudagar.
जिस पिता ने कराई थी बेटी की लव मैरिज, उसी ने उजाड़ा बेटी का सिंदूर
मनीमाजरा(अमृतसर). मनीमाजरा में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। पिता सौदागर ने अपने दामाद रफत अली की गला रेतकर हत्या कर दी। सौदागर की बेटी मीनू से रफत की शादी 6 महीने पहले हुई थी। पुलिस ने सौदागर को गिरफ्तार कर लिया है। उसने पुलिस को बताया कि अगर वह शादी से कुछ दिन पहले ही रफत का मर्डर कर देता तो शक की सुई उसकी ओर घूमती। इसके बजाय उसने पहले बेटी और दामाद का भरोसा जीता और फिर वारदात को अंजाम दे दिया। ससुर के घर पर ही रहता था दामाद…
– 27 साल का रफत मोरीगेट एरिया में ससुर के घर पर ही रहता था, मीनू मनीमाजरा के अस्पताल में नर्स है।
– सौदागर ने पुलिस काे बताया कि वह रफत को बहाने से मॉडर्न कॉम्प्लेक्स के डुप्लेक्स हाउसेज के साथ लगते जंगल में ले गया और वहां उसका गला रेत कर हत्या कर दी।
– रफत सहारनपुर का रहने वाला था। कुछ समय पहले ही मनीमाजरा आया था। मनीमाजरा के रास्तों का भी उसे ठीक से पता नहीं था।
– पुलिस का कहना है कि परिवार की रजामंदी से शादी हुई थी। लेकिन सौदागर अंदर ही अंदर इस शादी से खुश नहीं था।
बेटी के साथ गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचा थाने
– रफत मनीमाजरा व्यापार मंडल अध्यक्ष ओमप्रकाश बुद्धिराजा की दुकान पर 15 दिन से काम कर रहा था। बुद्धिराजा ने बताया कि वीरवार दोपहर 1.30 बजे सौदागर दुकान पर आया और रफत को साथ ले गया। जाते-जाते यह भी कह गया कि रफत शुक्रवार को काम पर नहीं आएगा।
– मीनू शुक्रवार को पति के बारे में पूछने आई और बताया कि रफत कल से घर नहीं आया है। वह गुमशुदगी की शिकायत देने पुलिस के पास पहुंचे तो सौदागर भी साथ था। सौदागर पर किसी को शक भी नहीं हुआ।
– बाद में बुद्धिराजा ने पुलिस को बताया कि वीरवार को सौदागर ही रफत को अपने साथ ले गया था। सौदागर मुकर गया कि वह तो दुकान पर आया ही नहीं था।
– बाद में बुद्धिराजा व आसपास की दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी गई, तो सौदागर और रफत जाते हुए नजर आए। पुलिस ने सख्ती की तो सौदागर ने सच उगल दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *