Father and son die as iron rods pierced through them near Chandigarh

accidentIn a tragic car accident, a Father and son die as iron rods pierced through them near Chandigarh on NH-95. The car was hit by a tanker when they were returning from a marriage.
बाप-बेटे की बॉडी में घुसा सरिया, हादसे के बाद बहू और पोती का हुआ ये हाल
खरड़( चंडीगढ़) खरड़-मोरिंडा एनएच-95 पर शनिवार रात पक्की रुड़की गांव के पास एक कार को कैंटर ने टक्कर मार दी। इससे कार में सवार परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। जबकि एक महिला का पीजीआई में इलाज चल रहा है। मृतकों में एक साल की बच्ची भी है। वह एक शादी से घर लौट रहे थे। पुलिस ने आरोपी कैंटर ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कैंटर चालक फरार है। बाप-बेटे के सिर और चेहरे में घुसा सरिया…
– खन्ना के रहने वाले गुरप्रीत सिंह ने बताया कि उसके ससुर हरनेक सिंह (47 साल) बेटे रविदर (21 साल), बहू सुमन (20 साल) व पोती (1 साल) के साथ जैन कार में सवार होकर मोहाली में एक रिश्तेदार के मैरिज पार्टी में गए थे। वह भी उसी शादी में गया था।
– रात 10 बजे हरनेक अपने बड़े बेटे रविंदर, बहू सुमन व पोती मंदीप के साथ घर लौट रहे थे। कार रविंदर चला रहा था। गांव पक्की रूड़की के पास सामने से आ रहा कैंटर टाटा-709 (पीबी11सीबी-4910) के ड्राइवर ने कार को साइड लगा दी।
– कैंटर की टक्कर लगते ही कार असंतुलित हो गई। कार पहले पुलिया पर चढ़ गई और अंडरकंस्ट्रक्शन पुल के बाहर निकले हुई सरियों में फंसते हुए पलटकर खेतों में गिर गई। जब टक्कर के बाद कार पुल पर चढ़ी इस दौरान सरिये कार के कांच को भेदते हुए कार में सवार बाप-बेटे के सिर व चेहरे में लगे जिस कारण उनकी मौके पर ही मौत हो गई।
– हादसे में घायल रविंदर की पत्नी सुमन व बच्ची मंदीप को पीजीआई रेफर किया। बच्ची मंदीप ने सुबह करीब 5 बजे दम तोड़ दिया। घायल सुमन की हालत गंभीर बनी है। उसके सिर पर गहरे घाव होने के कारण अॉप्रेशन होना अभी बाकी है।
मां-बेटा रह गए परिवार में अकेले
– मैरिज फंक्शन में रस्में पूरी होने पर सभी पारिवारिक सदस्य घर वापस चल दिए लेकिन हरनेक सिंह पत्नी मंजीत कौर व छोटा बेटा अभिजीत सिंह (21) फंक्शन में ही रूक गए। इस कारण उनकी जान बच गई। इस हादसे के बाद परिवार में यह दोनों ही रह गए हैं।
– हरनेक सिंह टेलर का काम करता था जबकि रविंदर सिंह प्राइवेट नौकरी करता था।
– घर की फाइनेंसियल कंडीशन भी ठीक नहीं है। मोहल्ले के लोगों द्वारा इक्ट्‌ठे किए गए पैसों से घायल सुमन का इलाज करवाया जा रहा है।
जमाई पीछे आ रहा था बाइक पर…
– टक्कर से हाईवे के किनारे अंडरकंस्ट्रक्शन पुल के ऊपर इनकी कार चढ़कर पलटी और खेतों में गिर गई।
– हरनेक के जमाई गुरप्रीत ने बताया कि वह अपने बाइक पर इनसे कुछ दूरी पर था। जैसे ही टक्कर हुई तो वह रूका और स्थानीय लोगों की मदद से कंट्रोल रूम पर फोन किया फिर एंबुलेंस से घायलों को सिविल हॉस्पिटल खरड़ पहुंचाया।
14 अक्टूबर को था नन्ही मंदीप का बर्थडे.
– मृतक बच्ची मंदीप का जन्मदिन 14 अक्टूबर को था। बच्ची के पहले जन्मदिवस को लेकर घरवालों ने खाने का प्रोग्राम रखा हुआ था।
– मृतक के रिश्तेदारों के अनुसार बच्ची मंदीप काे लेकर उसके पिता व दादा काफी उत्साहित थे।
मृतकों की पहचान (47 साल) हरनेक सिंह, उसका बेटा (21 साल) रविंदर सिंह और उसकी करीब एक साल की बेटी मंदीप कौर के रूप में हुई है। जबकि रविंदर सिंह की पत्नी 20 साल सुमन की हालत गंभीर बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *