My hand is severed and left behind, Boy loses hand in tragic tractor-trolly mishap

accidentJodhpur: My hand is severed and left behind. This was said by 9 years old Babloo who lost his hand in tragic tractor-trolly mishap. Father took the boy and his severed hand to hospital. But the hand could not be rejoined as the process was delayed.

कंधे से उखड़ गया हाथ, ट्रैक्टर चला रहे पिता से कहा- मेरा हाथ पीछे रह गया
एक हाथ में बेटा, दूसरे में उसका कटा हाथ लिए अस्पतालों में घूमा पिता।
जोधपुर. हाथ पर पट्‌टी बांधे मंगलवार को जब 9 साल का बबलू अपनों के बीच गांव पहुंचा तो मायूसी उसकी आंखों से छलक रही थी। हर कोई उसे अपने तरीके से बहला रहा था, लेकिन वह गुमसुम ही रहा। दरअसल बबलू एक ऐसे भयानक हादसे से गुजरा, जिसे देखने वालों के भी रोंगटे खड़े हो गए। इसमें ट्रैक्टर में पिता के साथ जाने के दौरान मासूम का हाथ कंधे से उखड़कर अलग हो गया। ट्रैक्टर चला रहे पिता से कहा- मेरा हाथ पीछे रह गया…
– चिरढाणी गांव में बबलू रविवार को अपने पिता गेपरराम के साथ खेत गया था। वहां दोनों ने ट्रॉली में ज्वार का चारा भरा और उसे रस्सियों से बांध दिया।
– वापसी में रस्सी का एक सिरा नीचे लहरा रहा था। यह देख ट्रैक्टर के पीछे बैठे बबलू ने उसे अपने हाथ में लपेट लिया। रास्ते में नदी की रपट पर ट्रॉली को झटका लगा और रस्सी का वह सिरा टायर के नीचे दब गया, जिसे बबलू पकड़ कर बैठा था। रस्सी के तेज झटके ने बबलू का हाथ कंधे से अलग कर दिया।
– मासूम की चीख निकल पड़ी, लेकिन ट्रैक्टर चला रहे पिता को पता ही नहीं चला। उसने चिल्लाते हुए कहा कि मेरा हाथ पीछे रह गया… तो पिता के होश उड़ गए।
– उन्होंने तुरंत ट्रैक्टर रोका, कटा हाथ उठाया और पीपाड़ हॉस्पिटल पहुंचे। यहां से उसे जोधपुर रैफर किया। गेपरराम एक हाथ में बबलू और दूसरे में उसका कटा हाथ लिए जोधपुर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचे, लेकिन देरी होने के कारण हाथ नहीं जुड़ पाया।
– बता दें, 7 सितंबर को सड़क हादसे में बबलू के दादा मांगीलाल की भी मौत हो गई और चाचा गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जिनका आज भी इलाज चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *