Triple murder after birthday party, bodies of mother and children found in morning

murderA 32-year-old woman and her two young children were found murdered at their rented house in Loharbarwa in suburban Dhanbad on Wednesday morning, hours after a birthday party, with an anonymous letter claiming that her husband had been kidnapped by the perpetrators of the crime.
The mystery deepens because police suspect the letter has been planted while the woman’s family members insist she was in good terms with her husband and in-laws.
Father-in-law Rajendra Dasaundhi was the first to stumble on the triple murder of Anupama Devi and her children – Abha (4) and Ajay (2) – around 7am. Rajendra found son Bhairav Nath Dasaundhi, a clerk with a local transport company, missing at the same time and informed police.
While no murder weapon was found on the spot, preliminary investigations indicate that Anupama was strangled while her children were hacked to death. The anonymous letter said the family was being punished because Bhairav had become a witness in the murder case of his sister. She was allegedly burnt to death by her in-laws in Giridih in 2008.
The Dasaundhis have been living on rent on the ground floor of a three-storey building in Loharbarwa for the past five years. There are four other tenants, but no one heard or saw anything suspicious.
Rajendra said the family celebrated the birthday of his son-in-law in the same house on Tuesday night and went to bed around 2am.
“Around 7am, when I knocked on the door to my son’s room, no one answered. Later, we broke open the door. My daughter-in-law and grandchildren were lying dead on the bed. We are in a state of shock,” the elderly man said.
A dog squad and forensic team have been pressed into service. City SP Piyush Pandey said they were probing several angles. “The husband is untraceable. The letter seems like a decoy. We cannot rule out anything and anyone at the moment,” he said.
Rajendra Rai, father of Anupama and a resident of Hazaribagh, said he was clueless why his daughter and grandchildren were targeted. “Anupama got married in 2013 and was blessed with two children. They were a happy family.”
बर्थ-डे पार्टी पर ट्रिपल मर्डर, सुबह मिली मां और 2 बच्चों की गला कटी लाश
धनबाद (झारखंड)।यहां के बरवाअड्‌डा थाना क्षेत्र के लोहारबरवा में बुधवार की सुबह एक घर से तीन लाश मिलने से सनसनी फैल गई। घर में बीती रात बर्थडे पार्टी चली थी। रात में सभी लोग खा-पीकर सोने चले गए थे। सुबह उठने पर पत्नी, बेटे और बेटी की लाश मिली। सभी की गला रेतकर हत्या की गई है। घटना के बाद से महिला का पति भैरव नाथ शर्मा लापता है। पुलिस को भैरव पर ही हत्या का शक है। बेटे अभय की चली थी बर्थडे पार्टी…
– घटना की सूचना मिलते ही धनबाद के सिटी एसपी पीयूष पांडेय और डीएसपी मुकेश महतो मौके पर पहुंचे। पूरे मामले की छानबीन की।
– सिटी एसपी ने बताया कि भैरव (उम्र 34 साल) ने बीती रात अपने बेटे अभय (उम्र 3 साल) का बर्थडे मनाया था। अभय की भी हत्या कर दी गई है।
– रात दो बजे तक यह बर्थडे पार्टी चली थी। घटना के बाद से मृतक महिला अन्नू कुमारी (उम्र 24 साल) का पति भैरव नाथ शर्मा उर्फ भैरव दसौंधी लापता है।
– पुलिस ने कमरे से एक चिट्‌ठी भी बरामद की है। इसमें पहले से चल रहे एक केस में गवाही देना बंद करने की धमकी भैरव के पिता राजेंद्र दसौंधी को दी गई है। भैरव के बहन की पहले ही हत्या हो चुकी है। हत्या का आरोप ससुराल वालों पर है।
– ट्रिपल मर्डर की यह वारदात जहां हुई उस बिल्डिंग में पांच परिवार रहते हैं। पुलिस ने जब उनसे पूछताछ की तो वे भी कुछ नहीं बता पाए। पुलिस के अनुसार उन्हें भी सुबह ही सारी जानकारी मिली।
मेरी दुश्मनी किसी से नहीं, चिट्‌ठी में मांगे हैं तीन लाख : मृत महिला के पिता
– मृत महिला के श्वसुर राजेंद्र ने बताया कि उनकी दुश्मनी किसी से नहीं हैं। हालांकि बुधवार की सुबह उनके घर से एक चिट्‌ठी बरामद हुई है, जिसमें तीन लाख रुपए मांगे गए हैं।
– राजेंद्र के अनुसार, बीते दिनों उनकी बेटी को ससुराल में जलाकर मार डाला गया है। हत्या का आरोप दामाद और ससुराल वालों पर है। उन्हें शक है कि चिट्‌ठी उनके दामाद ने भेजी है। यह मामला कोर्ट में चल रहा है। इसकी गवाही देने से भी रोकने की धमकी उनको मिलती रही है।
– पिता ने बताया कि इस ट्रिपल मर्डर का शक उन्हें फिलहाल किसी पर नहीं है। रात में जब वारदात हुई तब भी उन्हें कुछ पता नहीं चल सका। वे सोये हुए थे।
– लापता भैरव दसौंधी ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करता था। उसकी पत्नी का नाम अन्नू देवी था। बेटी का नाम आभा कुमारी (उम्र 4 साल) था।
हत्या के एक मामले में भैरव भी है गवाह
– पुलिस ने बताया कि भैरव का परिवार जिस मकान में रहता है, उसके मकान मालिक पर बहू की हत्या का केस चल रहा है।
– भैरव इस मामले में भी गवाह है। पुलिस को शक है कि गवाही नहीं देने की धमकी वाला लेटर इस मामले से भी जुड़ा हो सकता है। फिलहाल भैरव का मोबाइल फोन भी बंद है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *