Two youths murdered by their own bodyguards at Faridabad

murderTwo youths Prem and Narendra alias Kallu were murdered by their own bodyguards at Faridabad. Bodyguards Manish Choudhary and Sagar have been arrested. Police is trying to reach mastermind of the conspiracy.
जान बचाने वालों ने ही किया 2 दोस्तों का ये हाल, रूम में ऐसे मिली थी डेड बॉडी
फरीदाबाद। फरीदाबाद में एक फ्लैट की 10वीं मंजिल पर बंद कमरे में दो दोस्तों की डेड बॉडी मिलने के मामले में पुलिस हत्या करने वालों तक पहुंच गई है। इन दोनों की हत्या उन्हीं लोगों की थी, जिन पर जान बचाने का जिम्मा था। बता दें कि 30 अक्टूबर की रात को एसआरएस हिल सिटी सोसायटी के ए ब्लॉक की 10वीं मंजिल के फ्लैट नंबर 1002 में प्रेम व नरेंद्र उर्फ कल्लू की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। बाहर से ताला लगा मिला था। अब एक सोची-समझी साजिश के तहत मर्डर करने के आरोपी दोनों बॉडी गार्ड्स को फिलहाल पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। इस तरह पहुंची पुलिस आरोपियों तक…
– क्राइम ब्रांच प्रभारी अशोक कुमार बताते हैं कि पुलिस कमिश्नर हनीफ कुरैशी ने भूपानी थाने में केस दर्ज करवा जांच डीएलएफ क्राइम ब्रांच को सौंपी थी।
– बनाई गई टीम में शामिल एसआई संदीप, एएसआई असरुद्दीन, अश्वनी, हवलदार आनंद सिंह, ईश्वर सिंह, सिपाही सहदेव, प्रीतम सिंह ने मामले की जांच शुरू की तो उसका शक मृतक प्रेम व नरेंद्र उर्फ कल्लू के बॉडी गार्ड्स पर गया।
– बॉडी गार्ड्स मनीष चौधरी व सागर को हिरासत में ले गहनता से पूछताछ की तो दोनों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया और खुलासा किया कि प्रेम व नरेंद्र उर्फ कल्लू की हत्या एक सोची-समझी साजिश के तहत की गई है।
– साजिश के तहत एक मास्टर माइंड हैं जिसनें मृतक प्रेम व नरेंद्र उर्फ़ कल्लू के पास अंगरक्षक लगवाया जिससे दोनों मृतकों प्रेम व नरेंद्र उर्फ़ कल्लू की गतविधियों पर नजर रख सकें और उसकी हत्या कर सकें।
– इस एवज में मास्टर माइंड ने कहा था कि जब इन दोनों की हत्या करना उसकी सूचना पहले उसे जरूर दे दें ताकि वह आगे से पैसा उठा सकें और वहां से जो पैसा उठाएगा उसका तीसरा हिस्सा आरोपी गार्ड मनीष चौधरी व सागर को मिलना था जो हत्या के बाद मास्टर माइंड जो शख्स हैं वह इन लोगों से संपर्क खत्म कर दिया।
– उनका कहना हैं कि यह दोनों हत्या आरोपी मनीष चौधरी व सागर ने यह भी प्लानिंग की थी प्रेम व नरेंद्र उर्फ़ कल्लू की हत्या करने के बाद दोनों को कमरे में बंद कर दिया।
– इसका घटना का पता लोगों को चार से पांच दिनों के बाद चल सकेगा और वह लोग मास्टर माइंड से पैसा लेकर रफू चक्कर हो जाएगें पर मृतकों के परिजनों को दूसरे दिन ही इस घटना का पता चल गया और दोहरे हत्याकांड के आरोपी अंगरक्षक मनीष चौधरी व सागर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
क्या था मामला
– मूल रूप से धतीर गांव के रहने वाले नरेंद्र उर्फ कल्लू 32 साल और भनकपुर के रहने वाले प्रेम (28 साल दोनों दोस्त थे।
– प्रेम ने सेक्टर-87 एसआरएस रॉयल हिल्स के ए-1 टॉवर की 10वीं मंजिल पर फ्लैट संख्या 1002 किराए पर लिया हुआ है।
– प्रेम अपने तीन साथियों बिल्लू, मोहित व एक अन्य के साथ कार में सवार होकर रविवार की रात को 11.40 बजे फ्लैट पर पहुंचा था, जबकि नरेंद्र पहले से फ्लैट में मौजूद था।
– बताया जा रहा है कि इन पांचों ने खूब शराब पी। शराब पीने के बाद नरेंद्र और प्रेम का मोहित वगैरह से किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। झगड़े के दौरान एक गोली भी चली, जो कमरे के शीशे को भेदते हुए बाहर निकल गई। इसके बाद दो गोलियां और चलीं।
– घटना के वक्त तेज आवाज में टेलीविजन चलने के कारण बाहर किसी को कुछ पता नहीं चला। सोमवार सुबह 11 बजे भूरा नाम के एक शख्स ने प्रेम के भाई धीरज के पास फोन किया कि उसके भाई की लाश फ्लैट में पड़ी है।
– यह सुनकर परिवार वालों के पैरों तले जमीन खिसक गई। जब वे वहां पहुंचे तो देखा कि बेड पर नरेंद्र जबकि फर्श पर प्रेम का शव खून से लथपथ हालत में पड़ा था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।
– मौके पर पहुंची क्राइम ब्रांच के प्रभारी अशोक वर्मा पहुंचे। डॉग स्कवायड, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और एफएसएल की टीम ने मौका मुआयना किया है।
– फॉरेंसिक जांच टीम को मौके से 7.6 एमएम की गोली के तीन खोल मिले हैं। प्रेम की छाती में एक गोली मारी गई जबकि नरेंद्र की कनपटी के पीछे गोली मारकर हत्या की गई है।
फ्लैट में अक्सर आती थी लड़कियां
– जब 10वीं मंजिल पर रह रहे कुछ अन्य लोगों से बात की गई तो पता चला कि नरेंद्र और प्रेम के पास दो लड़कियां अक्सर आती थी। दोनों ही अपने आपको इनकी पत्नी बताती थीं।
– एसआरएस कैंपस के मेन गेट पर तैनात गार्ड्स से भी बात की तो उन्होंने बताया कि नरेंद्र और प्रेम के साथ बॉडी बिल्डर टाइप के लड़के आते थे। इनकी गाड़ी में अक्सर लड़की होती थी, जिसे वे अपनी पत्नी बताते थे।
26 अगस्त को हुई थी नरेंद्र के भाई की हत्या
– नरेंद्र के बड़े भाई जगत की इसी साल 26 अगस्त को पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड में पांच आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। भाई की हत्या में नरेंद्र मुख्य गवाह था।
– जगत और प्रेम के बीच भी गहरे दोस्ताना संबंध थे। जगत की हत्या से कुछ दिन पहले ही सीआईए सेक्टर-56 की टीम ने नरेंद्र को अवैध हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था। और जिस दिन वह जेल से छूटा, उसी दिन उसके भाई की हत्या हो गई थी।
नरेंद्र और प्रेम पर हैं आपराधिक मामले दर्ज
– क्राइम ब्रांच प्रभारी अशोक वर्मा के मुताबिक मृतक नरेंद्र और प्रेम दोनों पर ही आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से एक पर पेट्रोल पंप लूट का भी मुकदमा दर्ज हुआ था।
– दोनों के बीच कई अन्य लोगों से रंजिश भी चल रही थी। इसीलिए दोनों युवक अपने पास हमेशा अवैध हथियार रखते थे।

सीसीटीवी फुटेज से मिला सुराग
– पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से कुछ सुराग मिले हैं। रात को एक कार एसआरएस कैंपस में आती दिखाई दी है। उसमें चार लोग बैठे दिखाई दे रहे हैं।आशंका है कि यही संदिग्ध हत्यारे हो सकते हैं। इनकी तलाश चल रही है। इसी कार की बदौलत एक एड्रेस वेरीफाई हुआ। जब पुलिस टीम वहां पहुंची तो कार मालिक घर से गायब मिला। अब उसकी सरगर्मी से तलाश चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *