Father asks in suicide note to punish his son and grandson

suicideShahjahanpur: Adressing district magistrate and SP in suicide notek 68 years old Rajendra Saxena urged them to punish his son Manoj and grandson Sonu since they used to abuse him time and again. After writing suicide note Saxena shot himself dead.
शख्स ने सुसाइड से पहले सजाई खुद की चिता, फिर भी पूरी नहीं हुई ये इच्छा
शाहजहांपुर. यूपी के शाहजहांपुर में एक बुजुर्ग ने आत्महत्या कर ली। उसने डीएम और एसएसपी को संबोधित करते हुए अपने सुसाइड नोट में लिखा- “मेरा बेटा मनोज और पोता सोनू मेरी मौत के जिम्मेदार हैं। दोनों मुझे गंदी गालियां देते थे। जीना मुश्किल कर दिया था।” उन्होंने साथ ही अपनी अंतिम इच्छा बताते हुए दोनों को ऐसी सजा देने की मांग की, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए सबक साबित हो।

खुद के अंतिम संस्कार का कर रखा था इंतजाम
– 68 साल के राजेंद्र सक्सेना गांव में बने घर में अकेले रहते थे। उनके तीन बेटे मनोज, सनोज और दीपू अलग घर में अपने बीवी-बच्चों के साथ रहते हैं। राजेंद्र की पत्नी की पहले ही मौत हो चुकी है।
– सोमवार रात राजेंद्र ने घर के बाहर बने सूखे कुएं के पास खुद को गोली मार ली। सुसाइड से पहले मृतक ने कुएं में लकड़ियां डालकर आग लगा दी थी। पुलिस के मुताबिक बुजुर्ग का प्लान गोली लगने के बाद कुएं में गिरकर जलना भी था, लेकिन ऐसा हो न सका।
– पुलिस के मुताबिक मृतक बेटों और पोतों से इतना दुखी था कि उन्हें मुखाग्नि का हक भी नहीं देना चाहता था।
– पुलिस ने सुसाइड नोट कब्जे मे लेकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।
घर की सिक्युरिटी के लिए रखे थे दो कुत्ते
– राजेंद्र का दो मंजिला मकान गांव के बाहर बना है। वे मकान से ही अनाज मंडी चलाते थे।
– अकेले रहने की वजह से उन्होंने घर की सिक्युरिटी के लिए दो कुत्ते पाल रखे थे, जो घर के पास किसी को फटकने तक नहीं देते थे।
– शाम पांच बजे के बाद वे मकान की छत पर बने कमरे में ही रहते थे, बाहर नहीं आते थे।
सुसाइड से पहले रिश्तेदार को किया था फोन
– पुलिस के मुताबिक राजेंद्र ने रविवार शाम को अपने बहनोई सुरेश को फोन किया था। उसने फोन रखते हुए कहा था, यह मेरा आखिरी नमस्ते है।
– मृतक के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है।
– सोमवार सुबह गांव के कुछ लोगों ने राजेंद्र को उसके घर के पास बने कुएं के पास नग्न अवस्था में पड़ा देखा। उसके सिर पर घाव था और आसपास जमीन पर काफी खून फैला था।
– इसके बाद ग्रामीणों ने उनके बेटों को खबर दी। बेटों ने पिता की हत्या की आशंका जताई, लेकिन कोई पुख्ता तर्क नहीं दे सके।
लाश के साथ मिला ये सामान
– राजेंद्र सक्सेना की डेडबॉडी के पास देसी शराब की चार-पांच बॉटल मिली हैं। बॉडी के नीचे एक बीयर बोतल दबी हुई मिली, जिसमें तेजाब था।
– पास में ही कैरोसीन भरा डिब्बा भी मिला। माना जा रहा है कि राजेंद्र हर तरह से रात में जान देने को उतारू थे। उन्होंने सारे इंतजाम कर रखे थे।
– परिचितों के मुताबिक राजेंद्र बहुत ही नेकदिल व्यक्ति थे, सभी से अच्छे से मिलते थे। बेटों से ज्यादा मतलब नहीं रखते थे।
– राजेंद्र का खाना बेटे के घर से आता था। हर शाम को टिफिन उनकी आढ़त पर पहुंच जाता था।
– सोमवार शाम भी टिफिन आया, लेकिन उन्होंने उस टिफिन को खोला तक नहीं। वह कमरे में वैसा ही बंद पड़ा मिला।
ऐसे किया सुसाइड
– सुसाइड से पहले उन्होंने अपने कपड़े उतार कर चारपाई पर डाल दिए थे।
– डीएम और एसएसपी को संबोधित करता सुसाइड लेटर तकिया के नीचे रखा था।
– इसके बाद उन्होंने जीने में ताला डाला और चाबी वहीं पास में रख दी। घर बंद करने के बाद वे आढ़त के पीछे बने कुएं के पास गए और आत्महत्या कर ली।
– इस दौरान उनके दोनों कुत्ते जीने पर बैठे पहरेदारी करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *