This Bohra man has bought Dawood Ibrahim’s properties in auction

dawoodThree properties belonging to gangster Dawood Ibrahim have been auctioned for approximately Rs 11.5 crore. The Saifee Burhani Upliftment Trust (SBUT) has emerged the highest bidder for three of the wanted gangster’s properties in South Mumbai, that were put up for auction by the Ministry of Finance on 14 November.
The SBUT, which is run by the Bohra community, has quoted an amount close to Rs 11.5 crore for all the three properties together, sources told The Quint.
The auction was carried out under the Smugglers and Foreign Exchange Manipulators (SAFEMA) Forfeiture of Properties Act at the IMC Chamber of Commerce and Industry in Churchgate.
The Hotel Raunaq Afroz – also known as Delhi Zaika – Shabnam Guest House, and six rooms in the Damarwala building, on Pakmodia Street were put up for auction.
The auction was held in three forms: e-auction, public auction, and tenders.
Moneycontrol, citing industry reports, said that Hotel Rounaq Afroz was sold for Rs 4.53 crore. The Damarwala building was reportedly auctioned for Rs 3.53 crore, and the Shabnam Guest House’s winning bid was Rs 3.52 crore. All three went to the Saifai Burhani Upliftment Trust(SBUT)
Meanwhile, the Indian Express repored that the SAFEMA office in South Mumbai was flooded with a number of prospective buyers, of which the Hindu Maha Sabha was a key-bidder. It also said that the prospective bidders were allowed to examine the properties that were up for sale, between 11 am and 1 pm last week.
This is the second time in two years that the ministry has attempted to auction off the properties of the man who is known to be the brains behind the 1993 Mumbai bombings.
The Appellate Tribunal for Forfeited Property, under the provisions of SAFEMA, had earlier dismissed 27 appeals from people claiming to be “long-term tenants” at the Damarwala Building and Shabnam Guesthouse, two of the three properties that were auctioned off, and accordingly cleared the government’s move to take it over.
For security purposes, the authority administering the auction under SAFEMA had written to the Marine Drive police seeking protection. As a result, police forces were deployed in and around the auction venue, Kelachand Conference room, IMC building at Churchgate.
More details are awaited.
(With inputs from ANI, Indian Express and MoneyControl)
इन्होंने खरीदी है दाऊद की प्रॉपर्टीज, पीएम मोदी के साथ आ चुके हैं नजर
मुंबई.अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की जब्त की गई तीनों प्रॉपर्टीज मंगलवार को नीलाम हो गई। मुंबई के सैफी SBUT बुरहानी ट्रस्ट ने दाऊद इब्राहिम की तीनों प्रॉपर्टीज को 11.5 करोड़ रुपए में खरीदा है। इनमें रौनक अफरोज होटल, डांबरवाला बिल्डिंग और शबनम गेस्ट हाउस शामिल है। आपको बता दें कि पिछली बार रौनक होटल के लिए एस बालाकृष्णन ने 4 करोड़ 28 लाख की बोली लगाई थी, लेकिन रकम नहीं चुका पाने की वजह से वह इसे खरीद नहीं पाए थे। SBUT ट्रस्‍ट में जो लोग शामिल हैं उनमें चेयरमैन शहजाद डॉ.क्‍वीदजोहर भाईसाहेब इजुद्दीन के अलावा वाइस चेयरमैन शहजाद अब्‍बास भाईसाहेब फकरुद्दीन और शहजाद ताहा भाईसाहेब नजमुद्दीन हैं। इस ट्रस्ट ने खरीदी दाऊद की तीनों प्रॉपर्टीज…
– दाऊद का रौनक अफरोज होटल- 4.53 करोड़ रुपए में नीलाम हुआ है। वहीं डांबरवाला बिल्डिंग 3.53 करोड़ रुपए में और शबनम गेस्ट हाउस 3.52 करोड़ रुपए में नीलाम हुआ है।
– बुरहानी एपलिफ्टमेंट ट्रस्ट के प्रवक्ता ने बताया कि ये तीनों प्रॉपर्टी हमारे भिंडी बाजार पुनर्विकास परियोजना के एरिया में ही आ रहे थे।
– यह ट्रस्ट भिंडी बाजार का कायाकल्प का काम पिछले कुछ सालों से कर रहा है। चर्चा है कि इस इलाके में आने वाली दाऊद ये तीन प्रॉपर्टीज इनके पुनर्विकास प्रोजेक्ट में बाधा बन रहे थे। इसलिए ट्रस्ट ने इन्हें खरीदा है।
– इस प्रोजेक्ट के तहत भीड़भाड़ वाले भिंडी बाजार में हाईक्लास बिजनेस करने के लिए माहौल पैदा करने और यहां रहने वालों को आधुनिक सुविधाएं देना शामिल है।
– सैफी बुरहानी उत्थान ट्रस्ट बीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में डॉ सैयदना और डॉ सैयदना ताहिर सैफुद्दीन (आरए) के संयुक्त प्रयास से खड़ा हुआ।
– ट्रस्ट के चेयरमैन शाहजादा डॉ कैद जोहर ईजुद्दीन हैं। वे देश के कई बड़ी नामचीन हस्तियों से मुलाकत और उन्हें अपने प्रोजेक्ट के बारे में बता चुके हैं।
– डॉ कैद जोहर ईजुद्दीन ने लंदन यूनिवर्सिटी से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल की है।
देश की सबसे बड़ी शहरी पुनर्विकास परियोजना
– भिंडी बाजार पुनर्विकास परियोजना देश की सबसे बड़ी शहरी पुनर्विकास परियोजना है। भिंड़ी बाजार मुंबई का सबसे घनी आबादी वाले इलाकों में से एक है।
– इस इलाके पर कई फिल्में भी बनी हैं और इसको लेकर कई कहानियां भी हैं। यह अपनी तंग गलियों, भीड़-भाड़, कई अवैध धंधों के लिए मशहूर रहा है, उसका ज्यादातर हिस्सा इतिहास के पन्नों में और मुंबई के माफियाओं, भाई लोगों पर बनी फिल्मों में रह जाएगा।
– बुरहानी एपलिफ्टमेंट ट्रस्ट यहां कई आवासीय टावर बना रहा है। भिंड़ी बाजार के आधे से ज्यादा लोग अपने पुराने घर छोड़ चुके हैं और नए घरों के बनकर तैयार होने तक के लिए वैक्लपिक घरों में रह रहे हैं। इस परियोजना में 20 हजार लोगों को नए घर मिलेंगे।
2018 से मिलने शुरू हो जाएंगे नए घर
– भिंड़ी बाजार के लोगों के सहयोग से इस इलाके के मकान गिराने शुरू कर दिए गए हैं। बहुत से मकानों को गिरा दिया गया है और 1700 परिवार यहां से दूसरी जगह रहने लगे हैं। पहले टावर में 2018 में मकान मिलने शुरू हो जाएंगे।
– इस परियोजना में महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी के साथ-साथ कई धार्मिक संगठन भी शामिल हैं।
बुरहानी ट्रस्ट पर भरोसा करते हैं यहां के लोग
– भिंडी बाजार में रहने वाली ज्यादातर आबादी मुसलमान है, ऐसे में सरकारी अथॉरिटी और बिल्डरों के लिए उन्हें भरोसे में लेना थोड़ा सा ज्यादा कठिन था। ऐसे में बोहरा मुस्लिम समुदाय के सैफी बुरहानी उत्थान ट्रस्ट ने अहम भूमिका निभाई।
– ट्रस्ट ने लोगों को भरोसा दिलाया और इसे एक परोपकारी काम बताया। कुछ लोग जो घरों को तोड़े जाने और इस परियोजना का विरोध कर रहे थे, उन्हें भी इस ट्रस्ट ने ही समझाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *