Raid on Baba Virendra Dev Dixit’s ashram, 12 girls rescued

baba sexPolice raids baba Virendra Dev Dixits ashram in Banda (Uttar Pradesh) for allegedly running sex racket. Baba owns a university. But charges of sex trade has been made against him.
आश्रम में रेड-बाहर निकली 12 लड़कियां, सामने आया बाबा का गंदा सच
पुलिस ने सोमवार को शिकायत के आधार पर बाबा के बांदा स्थि‍त आश्रम में छापा मारा था। इसमें कई बंधक बनाई हुई लड़कियां मिली हैं।
बांदा.यूपी के बांदा में विवादित बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ लड़कियों को बंधक बनाए जाने की शि‍कायत रवि‍वार को मिली थी। पुलिस ने सोमवार को शिकायत के आधार पर बाबा के बांदा स्थि‍त आश्रम में छापा मारा था। आश्रम से 12 लड़कियां मिलीं। जिसमें बिहार और यूपी की कई लड़कियां शामिल हैं। पूछताछ में उन्होंने कई खुलासे किए। मंगलवार को बाबा-संचालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। बाबा अभी फरार हैं। बता दें, किसी भी बाबा पर आरोप लगने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई बाबाओं पर कई तरह के आरोप लग चुके हैं। लड़कियों ने सुनाई आपबीती…
– बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का दिल्ली में ‘आध्यात्मिक ईश्वरीय’ नाम से एक यूनि‍वर्स‍िटी है। इसकी कई ब्रांचेज हैं। यूपी के बांदा में उनका एक आश्रम है। जिसके खि‍लाफ लड़कियों को बंधक बनाए जाने की शि‍कायत मिली थी।
– इसी आश्रम से कई सालों से जुड़ी एक सेविका ने बताया, ”मुझे आश्रम में माता कहकर बुलाया जाता था। इस आश्रम में आने से पहले मैं ब्रह्माकुमारी आश्रम में थी। जब मैं बाबा के आश्रम में गई तो लोगों ने बताया- वीरेंद्र दीक्षित के शरीर में भगवान हैं। वे भोलानाथ और कृष्ण कन्हैया भी हैं।”
– ”7 दिन तक मेरी भट्टी(एक रस्म) हुई, इस दौरान मुझे एक कमरे के अंदर ही रखा गया। कहा गया कि इन 7 दिनों में आसमान तक नहीं देखा जाता है। जब मैंने पूछा ये सब क्यों? तो बताया गया, बच्चा जिस तरह पेट में रहता है, वैसे ही तुम यहां गर्भ महल में हो।”
– ”2007-2015 तक मैं आश्रम की सेवा में लगी रही। इस बीच मुझे मोबाइल तक यूज करने की इजाजत नहीं थी। हमसे कहा जाता था कि आप अपने आप को यही सरेंडर कर दो। बाहरी दुनिया में क्या रखा है।”
– ”इस दौरान हम देश के कई आश्रमों में गए और बाबा की सेवा की। जब बाबा फर्रुखाबाद आए तो हमारी इच्छा हुई कि भगवान आए हैं चलो इनके दर्शन कर लें।”
कमरे के अंदर देखा तो रही शॉक्ड
– ”दर्शन के लिए जैसे ही मैं कमरे के अंदर गई, तो नजारा देख आंखें खुल गईं। अंदर बाबा बैठे थे और छोटी-छोटी लड़कियां उनके हाथ-पैर दबा रहीं थी। मेरे अंदर बाबा का रहस्य जानने की जिज्ञासा हुई।”
– ”एक दिन मैंने रात में चुपचाप बाबा के कमरे में जाकर देखा तो उस कमरे लड़कियां बाबा की मालिश कर रहीं थीं।”
– ”दूसरे दिन मैंने उन लड़कियों से पूछा आप लोग बाबा के कमरे में क्या कर रहीं थी। वे मुझसे बोलीं- माता जी ये बाबा का प्रसाद है, जिसको मिल जाए उसके भाग खुल जाते हैं। मैंने सोचा जब इतना अच्छा प्रसाद है तो क्यों ना मैं भी ले लूं।”
– ”जब मैं बाबा के कमरे में गई तो बाबा मुझे अर्ध नग्न अवस्था में मिले उनकी कमर पर सिर्फ एक तौलिया था।”
प्रसाद मांगने पर बाबा ने उतार दिए कपड़े
– ”मैं बाबा के पास गई और उनके पैर दबाने लगी तभी उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोले- तुम्हें भी प्रसाद चाहिए, मैंने कहा जी। इसके बाद बाबा ने अपनी तौलिया खोल दी। मैंने कहा ये क्या है? बाबा बोले- बच्ची यही तो प्रसाद है।”
– ”आश्रम में रहते-रहते लड़कियां बड़ी हो जाती थीं और उनको पीरियड्स आने लगते तो वहां की सेविकाएं हंसते हुए कहतीं थी, बाबा अब इनको भी प्रसाद देंगे।”
10 रुपए के स्टांप पर होता था एग्रीमेंट
– ”जब लड़कियां आश्रम में गलती कर देतीं तो बाबा उनको बहुत मारते थे। बाद में उन्हें ये कहते हुए मना भी लेते थे कि अब तुम्हारी सजा कम हो गई।”
– ”आश्रम में आने से पहले बाबा 10 रुपए के स्टांप पर उनके माता-पिता से लिखवाता था कि अब लड़की के माता-पिता, सगे-संबंधी और यहां तक कि पति सब हम हैं।”
बाबा शरीर को बुरी तरह से छूता था
– एक अन्य पीड़ि‍ता ने बताया, ”मेरी मां मुझे खुद वीरेंद्र देव दीक्षित के दिल्ली स्थित आश्रम छोड़कर आई थी, बाद में मुझे राजस्थान शि‍फ्ट कर दिया गया था। वहां बाबा दीदी लोग (बड़ी लड़कियों) से पहले मालिश कराते थे और बाद में वे उन्हें नहलाती थीं। हमसे भी कई बार ऐसा करने के लिए कहा गया, लेकिन मेरा मन नहीं हुआ।”
– ”रात में बड़ी लड़कियां बाबा के कमरे में जाती थीं। वहां बाबा बिना कपड़ों के रहता था और उनको गलत तरीके से छूता था। मुझे भी पकड़ कर ले जाने की कोशिश की गई, लेकिन मैं छूट कर भाग गई। प्रसाद के लिए एक-एक कर लड़कियों को बुलाया जाता था। मुझसे वहां के सेवादार कहते, तुम भी प्रसाद ले लो।”
घर जाओगी तो गंदी जगह जन्म होगा
– ”वहां रहकर मैंने कई बार कहा- मम्मी से बात करा दो, लेकिन मेरी बात नहीं कराई जाती थी। जैसे-तैसे एक बार बात कराई गई तो मैंने मम्मी को पूरा हाल बताया और वे मुझे लेने आ गईं। मम्मी के साथ मुझे आने नहीं दिया जा रहा था। कह रहे थे बाहर जाकर क्या करोगी बाहर जाओगी तो चंडाल बन जाओगी और गंदी जगह में जन्म लेना पड़ेगा।”
बाबा कहता था- जो मेरी जा@# पर बैठेगी वो पटरानी बनेगी
– पीड़िता की मां ने बताया, ”मैंने अपनी बेटी को बाबा के यहां 2015 में छोड़ा था और 2017 में बहाना बनाकर वहां से ले आई। बाबा लड़कियों के साथ गलत काम कराते हैं। बाबा लड़कियों के रूम में सोते हैं। ये बात मुझे बिल्कुल अच्छी नहीं लगी।”
– ”लड़कियों से बोलते हैं- मैं कृष्ण हूं मेरे 16,108 रानियां हैं और जो मेरी जा@# पर बैठोगी तो पटरानी बनोगी। वो अपने आपको भगवान मानते हैं और सोचते हैं कि सारी कन्या(लड़कियां) उनपर समर्पित हैं।
पुलिस ने ये कहा?
– ASP भरत कुमार लाल ने बताया, बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित और हेमंत राय के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जल्द कार्रवाई की जाएगी। बाबा की तलाश की जा रही है, फिलहाल वो अभी फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *