Father kills son during liquor party, tries to give colour of accident

murderRaisen near Bhopal: Transporter father killed son during liquor party when he struck him with a rod. In the morning he and others tried to give murder the colour of accident. Police has arrested Ajay Chouhan for murdering his son Sandeep.
रात में चल रही थी पार्टी, फिर हुआ कुछ ऐसा कि पिता ने बेटे की कर दी हत्या
रायसेन (भोपाल) . 18 दिन बाद बुधवार की सुबह बकतरा के कौड़री गांव के रहने वाले एक युवक की नदी के पास लाश मिलने से सनसनी फैल गई। जांच में पिता का नाम सामने आया है। पिता ने अपने ही बेटे का पार्टी में नाराजगी को लेकर सिर में डंडा मारकर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक, युवक 11 नवंबर से लापता था लेकिन बुधवार को उसका नदी के पास लाश मिली। मृतक की पहचान अजयपाल सिंह चौहान के नाम से हुई है। युवक और उसका पिता ट्रांसपोर्टर के डायरेक्टर हैं जो खुद ही इस काम को संभालते हैं। क्या है मामला…
– रायसेन के पास, कौड़री गांव में रहने वाले संदीप पाल चौहान,पिता अजय पाल चौहान और गोकुल चौहान ने सगोनी गांव में पार्टनरशिप में कौली नाम की जगह पर जमीन ली हुई है।
– इस सिलसिले में तीनों और सभी नौकर भगवान सिंह 11 नवंबर को सगौनिया गए हुए थे।
– 12 नवंबर को संदीप के पिता अजय चौहान ने सुल्तानपुर थाने में बेटे संदीप के लापता की रिपोर्ट दर्ज कराई।
– सगौनिया गांव में रहने वाले भगवानसिंह अहिरवार की पुलिस तलाश कर रही थी। जब भगवानसिंह को पुलिस ने रिमांड पर लिया तो उसने सच उजागर कर दिया।
– इसके बाद बुधवार को पुलिस ने उसकी निशान देही पर संदीप का शव कौड़री की नदी से बरामद किया।
पिता अजयपाल ने सिर में मारा डंडा
– नौकर भगवानसिंह अहिरवार ने पुलिस को बताया कि 11 तारीख को रात में संदीप चौहान उसके पिता अजय पाल चौहान, गोकुल चौहान सब कौड़री गांव में पार्टी कर रहे थे।
– इसी दौरान खाने-पीने को लेकर नाराज होकर अजयपाल ने संदीप के सिर में डंडा मार दिया।
– इसके बाद सब लोग संदीप को बेहोश समझकर सो गए। सुबह उठकर देखा तो संदीप की मौत हो चुकी थी।
– फिर पूरी प्लानिंग के साथ संदीप के शव को ठिकाने लगा दिया। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया।
बहन बोली 14 साल से नहीं दी मजदूरी
– अजय पाल के यहां मजदूरी करने वाले भगवान अहिरवार की बहन मुन्नी बाई ने सुल्तानपुर पुलिस को आवेदन देकर शिकायत की है कि अजयपाल चौहान ने उसे 14 साल से मजदूरी ही नहीं दी।
– वह सिर्फ खाना देकर ही मजदूरी कराता रहा है। मुन्नी बाई ने मजदूरी दिलाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *