Woman Congress MLA and lady constable exchange slaps at Rahul’s meeting

asha kumariCongress MLA Asha Kumari on Friday slapped an on-duty woman constable with the latter hitting her back. Kumari was allegedly being stopped by the police from entering party president Rahul Gandhi’s review meeting in Shimla. Asha Kumari, All India Congress Committee secretary and AICC in-charge of Punjab, is a member of the Himachal Pradesh Legislative Assembly from Dalhousie.
Talking to media after the incident, Kumari accused the constable of abusing and pushing her. “She( woman constable) abused me and pushed me, she should have shown restrain, I am her mother’s age, but yes I agree I should not have lost my temper. I apologize,” said Kumari.
As per reports, Rahul will review the performance of the party workers and seek the probable reasons of the debacle. He is also likely to address the party workers in Shimla on his day-long visit to the hill state.
After the incident, the Congress president disapproved Kumari’s action of slapping the woman police constable on duty. During his address at the Congress party meeting later, Rahul said, “I am not happy at it. This is no way. No one has a right to raise hand against someone, at least not the Congress culture. I will not tolerate indiscipline in the party.”
राहुल गांधी की मीटिंग में पहुंचीं कांग्रेस विधायक महिला कॉन्स्टेबल से भिड़ीं, एक-दूसरे को मारे थप्पड़
शिमला. यहां कांग्रेस की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचीं विधायक आशा कुमारी एक महिला कॉन्स्टेबल से भिड़ गईं। बात इतनी बढ़ी की दोनों ने एक-दूसरे को थप्पड़ मार दिए। पुलिस ने विधायक को कथित तौर पर मीटिंग हॉल में जाने से रोका था। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार की वजह पर चर्चा के लिए राहुल गांधी की अगुआई में यह मीटिंग बुलाई गई।
कौन हैं आशा कुमारी?
– आशा कुमारी हिमाचल प्रदेश की डलहौजी सीट से विधायक चुनी गई हैं।
– वे ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) की सेक्रेटरी हैं और पंजाब मामलों की इन्चार्ज हैं।
– उन्हें हिमाचल प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता पद के लिए दावेदार माना जा रहा है।
हिमाचल में कांग्रेस सत्ता से हुई बाहर
– बता दें कि हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को सिंगल फेज में वोटिंग हुई थी। 18 दिसंबर को आए नतीजों में पार्टी सत्ता से बाहर हो गई।
– राज्य की कुल 68 सीटों में से बीजेपी को 44 और कांग्रेस को सिर्फ 21 सीटें मिलीं हैं।
– आशा कुमारी राज्य की डलहौजी सीट से विधायक चुनी गई हैं।
लोकसभा चुनाव की तैयारी
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राहुल गांधी जब शुक्रवार को हिमाचल कांग्रेस के नेताओं से मिलेंगे तो हालिया विधानसभा चुनाव में मिली हार की वजहों पर तो विचार होगा ही साथ में 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के बारे में स्ट्रैटेजी तैयार की जाएगी।
– माना जा रहा है कि रिव्यू मीटिंग के बाद राहुल गांधी मीडिया से भी बातचीत कर सकते हैं।
हिमाचल भी अब बीजेपी के पास
– बीजेपी हिमाचल में सरकार बना चुकी है और जयराम ठाकुर को यहां का सीएम बनाया गया है।
– बीजेपी ने प्रेम कुमार धूमल का हिमाचल प्रदेश में पार्टी का सीएम कैंडिडेट बनाया था लेकिन वो खुद चुनाव हार गए। तमाम मशक्कत के बाद जयराम ठाकुर को राज्य की कमान सौंपी गई है। उन्होंने बुधवार को शपथ ली।
– हिमाचल प्रदेश में ठाकुरों की तादाद ज्यादा है। लिहाजा, बीजेपी ने यहां ठाकुर कम्युनिटी के नेता जयराम को ही सीएम बनाया है। हालांकि, पहले रेस में यूनियन हेल्थ मिनिस्टर जेपी. नड्डा का नाम भी सामने आया था। बता दें कि कांग्रेस हिमाचल के साथ ही गुजरात में भी चुनाव हार गई थी।

Tagged as:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *