Man murdered on Panchayat’s order after marrying close relative

murderBhagalpur (Bihar):  Himanshu and his auntie fell in love and got married after escaping. Later, Himanshu and wife Soni were brought back. In the Panchayat, Himanshu was  murdered on Panchayat’s order for marrying close relative while Soni is also missing. It is alleged that she has also been murdered. The police has arrested 21 persons in this case.
बुआ को भतीजे से इश्क, लेकिन नहीं पता था अंजाम इतना भयानक होगा
भागलपुर.यहां के एक गांव में पंचायत लगाकर हुई हिमांशु की हत्या मामले में बिहार मानवाधिकार आयोग ने रिपोर्ट मांगी है। बता दें कि पिछले साल पांच जून को लड़की के घरवालों ने हिमांशु नाम के लड़के की हत्या कर दी थी। बताया जा रहा था कि हिमांशु और रिश्ते में उसकी बुआ को एक दूसरे से प्यार हो गया था जिसके बाद दोनों ने भागकर शादी कर ली थी। इसके बाद गांव में पंचायत हुई थी जिसमें हिमांशु की हत्या का फरमान सुनाया गया था।

इस केस से जुड़े आरोपी अजब लाल यादव की बेटी अनुष्ठा ने मानवाधिकार आयोग को पत्र लिख कर कई बिंदुओं पर सवाल उठाया था। इस पर आयोग ने एसएसपी ने रिपोर्ट मांगी है। महिला की पत्र की जांच के लिए एसएसपी ने सिटी डीएसपी को अधिकृत किया है।

हत्या के बाद से गायब है हिमांशु की पत्नी

जांच रिपोर्ट में आया है कि कुल 21 आरोपियों के खिलाफ यह केस सत्य पाया गया है, जिसमें अजब लाल यादव भी शामिल है। अजब लाल ने कोर्ट में सरेंडर किया था। हिमांशु की हत्या के बाद से उसकी पत्नी सोनी गायब है। हिमांशु के परिजनों को आरोप है कि सोनी को उसके मायकेवालों ने मार डाला और लाश को गायब कर दी। पुलिस ने भी सारा जतन लगा दिया पर पता नहीं चला। मामला ऑनर किलिंग की ओर जा रहा है।

इन आरोपियों पर केस पाया गया सत्य

यह मामला हिमांशु की मां जेलस देवी के बयान पर थाने में दर्ज हुआ था। मामले में परमानंद यादव, सुनील यादव, भितो यादव, सुमन यादव, सीताराम यादव, विवेक यादव, प्रकाश यादव उर्फ पक्की, पूसो यादव, राजा यादव, पंकज यादव, प्रकाश यादव, अधिक यादव, प्रताप यादव, विजय यादव, अजब लाल यादव, गणेश यादव, वरुण यादव, सुमन यादव, अरुण यादव, कुशी यादव, गोपाल यादव को नामजद आरोपी बनाया गया था। जांच में सभी आरोपियों पर साजिश के तहत हिमांशु की हत्या करना और उसकी पत्नी सोनी को गायब करने का आरोप सत्य पाया गया।

रिश्तेदारी में शादी करने के कारण बैठी थी पंचायत

हिमांशु यादव का रिश्ते में उसकी बुआ सोनी कुमारी से अफेयर था। दोनों घर से कहीं चले गए थे। इस संबंध में सोनी के पिता परमानंद यादव ने हिमांशु के खिलाफ सोनी के अपहरण का केस दर्ज कराया था। इसमें हिमांशु के अलावा उसके परिवार के अन्य लोगों को आरोपी बनाया गया था। अप्रैल 2017 में हिमांशु और सोनी बाहर वापस लौटे। फिर सोनी हिमांशु के साथ उ‌सके घर में रहने लगी। दोनों ने सहमति से शादी कर ली थी। रिश्तेदारी में शादी सोनी के पिता को नागवार गुजरी। पांच जून 2017 को सोनी के पिता व अन्य लोगों ने पंचायती में इस घटना को रखा। पंचायत ने हिमांशु की हत्या का फरमान सुनाया। लोगों ने लाठी-डंडा, गोली-पिस्तौल लेकर हिमांशु पर घर पर हमला कर दिया।

Tagged as:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *