Two daughters steal newborn from hospital to prevent father’s re-marriage

newborn theftBharatpur: Police arrested two sisters from Uttar Pradesh’s Mathura district on Monday for allegedly stealing a newborn from a government hospital in Rajasthan’s Bharatpur, but they left the baby on a roadside with a note and a feeding bottle three days later.
The suspects, identified as Shivani Devi and Priyanka Devi, aged 23 and 20, said before officers they wanted to gift a baby boy to their mother who was suffering from depression as their father was planning to remarry after their 12-year-old brother died two years ago.
The women stole the baby on January 10, but were overcome by fear after reading in newspapers about police trying to catch the culprits. They abandoned the boy on January 13 near Rarah village with a handwritten appeal that whoever found him should inform police that this is the baby stolen on January 10.
Bharatpur superintendent of police Anil Kumar Tank said investigators identified the siblings through CCTV camera footage from the hospital. The two women were seen in the video riding a scooter, while a man at the bicycle and motorbike parking lot of the hospital remembered the vehicle’s registration number.
“We arrested the sisters from their native village, Swarupa Naugaon, in Mathura under Section 363 (kidnapping) of the IPC and charged them with stealing a baby,” the district police chief said.
The women allegedly did a recce in Bharatpur and targeted the son of 30-year-old Manish, whose wife had delivered the baby around 4am on January 10 at a community health centre in nearby Pahari town and was shifted to the government women’s hospital under Mathura Gate police station for better care. They took away the boy around 2.30pm when the mother was sleeping. But the hospital surveillance video revealed the culprits and Manish’s father-in-law, Saddique Mev, registered a complaint.
Police superintendent Tank said the two women told police that they initially tried to adopt a boy to stop father Laxman Singh from taking another wife for a son, underscoring a largely patriarchal society’s obsession with a male heir.
Also, they approached nurses in hospitals to know if they could buy a baby from a poor family. But the sisters gave up because of the long legal process for adoption, and strict laws and punishment against any distress sale of babies.
Shivani is a teacher at a private school, married and lives with her husband at Pali Kheda in Mathura. Priyanka is married too, lives in Agra and studying for her graduation in arts.
बेटे की चाहत में पिता पर था दूसरी शादी का दबाव, दो बेटियां चुरा लाईं बच्चा
भरतपुर. जनाना अस्पताल से बच्चा चोरी के मामले में भास्कर ने जो कहानी प्रकाशित की उसे पुलिस ने भी मान लिया है। साथ ही आरोपी शिवानी और प्रियंका को रविवार देर शाम को मथुरागेट थाना पुलिस ने अपहरण के दर्ज मामले में गिरफ्तार कर लिया। हालांकि अधिकृत रूप से पुलिस मामले का खुलासा सोमवार को करेगी।
– पूछताछ में दोनों लड़कियों ने बताया है कि मां मीना देवी को सदमे से उबारने के लिए बच्चा चुराया था। साथ ही नया खुलासा किया कि एक रिश्तेदार उनके पिता लक्ष्मण की दूसरी शादी करना चाहते थे।
– दरअसल, वजह ये थी कि मां मीनादेवी इलाज के बाद भी गर्भवती नहीं हो पा रही थी। एक बार सुसाइड की कोशिश भी कर चुकी हैं।
– उन्होंने पहले बच्चा गोद लेने का प्रयास किया। इसके लिए मथुरा में ही नर्स के बहकावे में मां को गर्भवती बताकर दूसरे का बच्चा गोद लेने की योजना भी बनाई थी।
मां को बताया बच्चा खरीदकर लाई
– जनाना अस्पताल से बच्चा चुराने के बाद शिवानी ने मथुरा पहुंच कर वहां से आगरा में नाना लालसिंह और मां को फोन कर बताया कि वह बच्चा खरीद लाई है। इस पर वे गुस्सा हुए।
– इस बीच प्रियंका अपनी ससुराल आगरा चली गई। वहीं, पुलिस भी स्कूटी की तलाश में रामवीर नगर औरंगाबाद मथुरा पहुंच गई।
प्रियंका की ससुराल में हुई थी अनबन
– शिवानी के तो ऑपरेशन से बेटी हुई थी और दो साल तक बच्चा नहीं कर सकती थी। वहीं, प्रियंका शादी के तुरंत बाद गर्भवती हो गई थी। परंतु परीक्षा होने के कारण गर्भपात करा दिया। इससे ससुराल वाले नाराज हुए थे और अनबन चल रही थी। 15 दिन से पीहर में थी।
पुलिस का खुलासा आज 11 बजे
– मामले का खुलासा करने के लिए पुलिस ने मीडिया को मथुरागेट थाने बुला लिया। खुलासा नहीं किया।
– डीएसपी एबी रत्नू ने बताया कि दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। खुलासा एसपी सोमवार सुबह 11 बजे करेंगे।
क्या है पूरा मामला
– बता दें कि 10 जनवरी को राजकीय जनाना अस्पताल में भर्ती एक प्रसूता से दो घंटे की बातचीत में दोस्ती कर लड़की उसका नवजात बालक चुरा ले गई। यह प्रसूता का सात भाई-बहनों के परिवार में पहला बच्चा था। दोपहर 2.20 बजे घटना के समय नवजात सिर्फ 10 घंटे का था। सीसीटीवी फुटेज में करीब 30 साल की युवती बच्चे को चोरी करके गोद में ले जाती हुई दिखाई दी थी। उसके साथ एक अन्य लड़की भी साथ थी, जो बाहर पहले से खड़ी थी। पार्किंग में खड़ी स्कूटी पर दोनों लड़कियों बच्चे को लेकर फरार हो गईं। उनकी तलाश में नाकाबंदी कराई गई। हालांकि, सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस आरोपी बहनों तक पहुंच गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *