Father and brother murder girl for “honour”

murderAmbedkarnagar: In a shocking incident, a 17-year-old girl was allegedly shot dead by her father and brother in Uttar Pradesh’s Ambedkar Nagar. Both the culprits have been arrested by the UP police, stated a report on Tuesday. Imagine for representation only The police officials claim the case was solved within 24-hours after the crime was committed. After killing the victim, the father-son duo buried her body in a field two kms away from their home. The police had recovered the body along with the murder weapon, stated a report. Both the culprits are currently lodged in a jail, added the report. According to police, the girl was killed as she had left her home almost four months ago against the wishes of her family. The class 10 student wanted to pursue her studies, but her parents and brother opposed her decision forcing the victim to leave her home. At a time when the Narendra Modi government is promoting Beti Bachao, Beti Padhao (Save the girl child, teach the girl child), the murder of a teenage girl by her family members as she wanted to pursue her studies is indeed shocking. It seems the nation is becoming more unsafe for girls in the recent times, especially in the wake of three horrific rape cases of teenage girls in Haryana. One of them, a 15-year-old student was kidnapped, gang-raped and mutilated by her alleged oppressors.
भाई ने बहन को यहां जिंदा दफनाया, कहानी सुन IPS को नहीं आई नींद
लखनऊ. जिसकी उंगली पकड़ कर चलना सीखा, जिसके कंधे पर बैठ कर खेली, उन्हीं लोगों ने शान के लिए बेरहमी से बेटी और बहन को गोली मार दी। इतना ही नहीं, बाप-भाई उसे तड़पते हुए देखते रहे और जब वो मर गई तो उसे रात में ले जाकर गड्ढे में गाड़ दिया। मामला यूपी के अंबेडकर जिले का है। एसपी संतोष मिश्रा के मुताबिक, मामला ऑनर किलिंग का है। बाप-भाई ने मिलकर लड़की को गोली मारी और उसे जिंदा दफना दिया।

पिता-भाई ही बन गए जान के दुश्मन
– पुलिस के मुताबिक, मामला अंबेडकरनगर जिले के जहांगीर गंज थाना क्षेत्र के बसहिया गांव का है। यहां की रहने वाली दीपांजलि (16) लड़के से प्यार करती थी और घर में विरोध के चलते भाग गई।
– जब वो 10 दिन बाद घर लौट कर आई तो घरवालों ने अपमान का बदला लेने के लिए एक खौफनाक योजना बना डाली।
– गुरुवार रात में पिता-भाई विकास सिंह ने दीपांजलि की गोली मार कर हत्या कर दी और शव को छुपाने के लिए गांव के सूनसान जगह पर गड्ढे में गाड़ दिया।

72 घंटे बाद केस ओपन हुआ तो स्टोरी सुन IPS को नहीं आई नींद
– एसपी के मुताबिक, ”दीपांजलि के घर से भाग जाने के बाद भाई विकास सिंह ने गांव के ही चार लोगों के खिलाफ उसके मर्डर का केस दर्ज कराया था।”
– ”पुलिस ने इस मामले में जांच करते हुए 19 दिन बाद ही दीपांजलि को बरामद कर घर पहुंचा दिया, लेकिन दूसरे ही दिन दोबारा घर से दीपांजलि के गायब होने की सूचना पुलिस को मिली।”
– ”जांच के दौरान पुलिस को शक हुआ तो घरवालों से पूछताछ की गई। इसके बाद दीपांजलि के भाई विकास ने जो बताया वो सुनकर हम भी शॉक्ड हो गए और पूरी रात मैं सो नहीं पाया।”

भाई ने खोला पूरा राज- दफनाया जिंदा
– भाई ने बताया, ”दीपांजलि के घर से भाग जाने से हम लोग बहुत अपमानित महसूस कर रहे थे। इसीलिए उसे रस्ते से हटाने के लिए पापा और हमने मिलकर उसे गोली मार दी।”
– ”वो वहीं तड़पती रही और हम उसे देखते रहे। वो मरी नहीं थी और हमने उसे गांव के बाहर गड्ढे में गाड़ दिया।”
– पुलिस ने विकास की निशानदेही पर गड्ढे से शव और तमंचे को बरामद कर उसे जेल भेज दिया है। खुलासा होने पर पूरा परिवार घर छोड़ फरार हो चुका है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *