Murder or suicide? Girl’s body found hanging in sports school hostel

murderSonepat: Disturbing news has come from Haryana’s Motilal Nehru School of Sports (MNSS) at Rai in Sonepat, as informed by a Facebook friend; a girl studying in class XI has reportedly committed suicide by hanging herself from the fan in her hostel room.
The MNSS is a well-resourced prestigious co-educational residential school of Haryana government wherein education is subsedised and affordable to rural students.
It has been reported that Ashu, in her late teens, who hailed from of Matindu village in Sonepat district reportedly committed suicide during the evening hours. She was a Class XI student living in the girls’ hostel which has a number of support staff along with house mistresses who are suppose to provide psycho-social bearing and counselling to girls for their wellbeing.
The school functionaries took the body the girl to the civil hospital in Sonepat and she was declared brought dead. Meanwhile a team of police personnel reached the hospital and the body was sent for post-mortem examination to ascertain the cause of death.
According to the father of the girl, of late, Ashu had been worried because of her poor performance in mathematics, it is told.
Very recently, a spate of incidents of rapes, accidental deaths, fatal physical assaults on students and suicides by young students has been reported in all hues of schools including the prestigious ones.
Both parents and sociologists feel that there should be a proper system for students’ physical safety, psychological wellbeing, and academic support to and schools need to be made accountable for these basic provisions. In schools, which admit schools after an entrance or screening test, if children are pushed towards fear, anxiety and worry by hurting the self-esteem for poor performance, it should be treated as poor quality of teaching and school management.
“The schools must hang their heads in shame if the children’s safety gets compromised due to mis-management and academically unprofessional work or classroom practices,” said an educator after hearing the news.

पार्टी के लिए पैसे लेकर घर से निकली थी लड़की, हॉस्टल में लटकी मिली लाश
सोनीपत. राई स्पोर्ट्स स्कूल के हॉस्टल में छात्रा का शव फंदे पर लटका मिला था, इस मामले में शुक्रवार को छात्रा का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के पैनल ने किया। इसमें डॉ. संजय वर्मा, डॉ. माया व डॉ. अंबुज जैन शामिल रहे। डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम की रिपोर्ट पीएमओ को दी। बताया कि गला घुटने की पुष्टि हुई है। मामले में तह तक जाने के लिए लड़की के शव से विसरा व स्वैब लेकर लैब में भेजे हैं। इनकी जांच के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो सकेगी, जबकि मृतका के दादा धर्मवीर ने मामले पर सवाल उठाए। इस दौरान हॉस्पिटल में एसडीएम जितेंद्र भी मौजूद रहे। यह है पूरा मामला….
– छात्रा आशू दहिया गांव मटिंडू की रहने वाली थी। हाल में वह 11वीं कक्षा में पढ़ रही थी। पिता अशोक ने बताया कि बेटी के इंटरनल एग्जाम हुए थे।
– इसके बाद वह गांव आई थी। सोमवार को स्कूल लौटने से पहले उसने बेटी से पूछा था कि उसके पास पैसे हैं। तो बेटी ने कहा था कि 400 रुपए हैं।
– उसने बेटी को कहा था कि कम है, इसके बाद 150 रुपए और दे दिए थे। उसने बेटी से पूछा अब भी कम है। इस पर बेटी ने कहा कि स्कूल में पार्टी है।
– यह सुनने के बाद उसने बेटी को 500 रुपए और दे दिए थे। बेटी ने उसे बताया था कि एग्जाम में इस बार मैथ में अंक कम आए। उसने बेटी की इस बात पर कहा था कि कोई नहीं, इस बार अच्छी तैयार करना अंक अच्छे आएंगे।
दादा बोला- तथ्य छुपाने की कोशिश हो रही
दादा धर्मवीर ने आरोप लगाए कि पोती के साथ जो घटना हुई, इसमें स्कूल स्टाफ की लापरवाही रही है । आरोप लगाए कि उन्हें समय रहते घटना के बारे में सूचित नहीं किया और अब मामले के तथ्य छुपाने की कोशिश की जा रही है। पोती के साथ जो घटित हुआ, उसकी प्रशासन को निष्पक्ष जांच करनी चाहिए। वहीं, स्कूल स्टाफ के सदस्यों ने इस बारे में कुछ भी कहने से साफ इनकार कर दिया। स्कूल की एक शिक्षिका से जब सवाल किया कि यह सब कैसे हुआ तो उन्होंने कहा कि शाम को प्रिंसिपल आने पर ही वह इस बारे में जानकारी देंगे।
ताकि स्पष्ट हो सके स्थिति
विसरा इसलिए भेजा गया है, ताकि पता चल सके कि कहीं जहर तो नहीं पिलाया गया और फिर फंदे पर लटकाया गया हो। जबकि स्वैब जांच के लिए इसलिए भेजे हैं, इससे पता चल सके कि यौन प्रताड़ना तो नहीं हुई। अब इनकी जांच होने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *