Jailed gangster Akhilesh and wife have precious property in 8 states

akhiles SinghJamshedpur: Gangster Akhilesh Singh (39) was sent to the jail after his two-day police remand ended on Sunday. Security has been beefed up at Ghaghidih Central Jail.
The gangster’s wife Garima Singh who was also on the police remand for interrogation in connection with a forgery case registered with the Birsanagar thana has also been lodged in the central this afternoon. Akhilesh and his wife have precious property in 8 states. Recently their property worth over Rs. 8 crore has been seized.
Superintendent, Ghaghidih Central Jail, Satyendra Kumar Chaudhury said they have given an order to the guards on prison-gate duty for maintaining strict vigil while frisking the visitors.
“At present we have over 120 guards in the prison and all the guards have been asked to remain alert on the visitors who will come to meet Akhilesh Singh. We have also asked the guards to ensure that no unwanted materials, like cellphone, charger, mobile SIM card may get into the jail at any cost,” said Chaudhury.
The central jail superintendent said all the 24 CCTV cameras installed inside the prison have been checked so as to ensure of the footages of the jail inmates may be taken effectively.
In March 2009, Paramjeet Singh, who was an arch rival of the gangster Akhilesh was shot dead inside the Ghaghidih Central Jail, prompting the supporters of Paramjeet to lynch the shooter soon afterward.
The central jail superintendent, Chaudhury said a few days after the 2009 shooting inside the central jail, the district administration had sent several of the key associates of Akhilesh from Ghaghidih to other jails across the state.
Meanwhile, OC, Birsanagar, Upendra Narayan Singh said after the police remand was over Akhilesh and his wife were sent back to the central jail under tight security.
Notably, the arrest of Akhilesh Singh had become a challenge for the police and administration. which had declared a reward of Rs 5 lakh on the head of the fugitive. Son of Chandragupt Singh, general secretary of Jharkhand Police Association, Akhilesh set up a network extortionists and shooters.
The don stepped into the crime world by abducting the mobil merchant Om Prakash Kabra on July 21, 2001. After his name figured in the Kabra abduction case, he had surrendered in the court on August 6, 2001. He fled the judicial custody on February 18, 2002. He was arrested from Varanasi on October 7, 2004. On September 2, 2007, he was granted a parole for attending his ailing mother.
A police official said that they want to give a message that no one can become rich by running a racket of extortion. He said that several close associates who used to help Akhilesh in perpetuating the extortion racket, notorious criminal have already been taken into custody for interrogation.
Meanwhile the security of Ghaghidih Central Jail has been tightened in view of the remand of criminal and mafia don Akhilesh Singh. Sources said that authorities of the jail were prompted to further tighten security as there is a probability of a gangwar between members of Akhilesh Singh gang and Paramjeet Singh, who are lodged in the jail.
जेल में बंद ये गैंगस्टर और उसकी पत्नी, 6 स्टेट में है दोनों की अरबों की प्रॉपर्टी
जमशेदपुर. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गैंगस्टर अखिलेश सिंह और पत्नी गरिमा सिंह की कुल 7.77 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी जब्त कर ली है। दोनों पर जाली कागजात के आधार पर अवैध प्रॉपर्टी अर्जित करने की प्राथमिकी भी दिल्ली स्थित ईडी कार्यालय में दर्ज की गई है। ईडी ने अखिलेश के गुड़गांव, जबलपुर, ग्रेटर नोएडा व देहरादून की करीब 7.10 करोड़ की प्रॉपर्टी समेत दोनों के बैंक खातों में जमा 67 लाख 32 हजार 331 रुपए भी फ्रीज कर दिए। अखिलेश ने अलग-अलग जगह संजय सिंह, अजीत सिंह, दिलीप सिंह आदि के नाम से प्रॉपर्टी खरीदी है। जबकि, गरिमा की प्रॉपर्टी गरिमा सिंह और अन्नू सिंह के नाम से है। ईडी विभिन्न बैंकों में अखिलेश के संजय सिंह, अजीत सिंह, मनोज कुमार सिंह, दिलीप सिंह व अखिलेश सिंह के नाम से चल रहे खाताें को भी फ्रीज करेगा। जांच जारी है। बता दें कि सबसे पहले भास्कर ने इस बारें में 3 जनवरी को खबर ब्रेक की थी।
छह राज्यों में अखिलेश सिंह ने अलग अलग नाम से बनाई अरबों की प्रॉपर्टी
गैंगस्टर अखिलेश सिंह ने छह राज्यों के कई शहरों में अरबों की प्रॉपर्टी खड़ी की है। फर्जी नाम से झारखंड, बिहार, हरियाणा, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में उसने प्रॉपर्टी खरीदी है। अखिलेश ने मध्यप्रदेश में संजय सिंह के नाम से प्रॉपर्टी खरीदी तो दिल्ली में अरविंद शर्मा, हरियाणा में दिलीप सिंह, उत्तराखंड में अजीत सिंह और उत्तर प्रदेश में मनोज कुमार सिंह के नाम से प्रॉपर्टी ली है। पुलिस को झांसा देने के लिए उसने इन नामों से वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और गैस कनेक्शन भी बनवाया है।
रांची में ससुर चंदन सिंह के नाम पर चुटिया के सीरमचोली में ओएके रेजीडेंसी के बी ब्लॉक में दो फ्लैट खरीदे हैं, जबकि बनारस में ससुर के साथ मिलकर रीयल स्टेट का कारोबार कुबेर कंस्ट्रक्शन के नाम से चलाता था। अखिलेश ने पत्नी गरिमा सिंह का नाम भी नाम बदल कर कई प्रॉपर्टी खरीदी है। फिलहाल अखिलेश सिंह दुमका जेल में है, जबकि उसकी पत्नी गरिमा सिंह घाघीडीह जेल में दिन काट रही है।
अखिलेश ने पत्नी के खाते में रखे थे ज्यादा रुपए
अखिलेश सिंह ने पत्नी गरिमा सिंह के खाते में ज्यादा रुपए रखे थेे। गरिमा सिंह के तीन खातों में क्रमश: एक्सिस बैंक में 20.82 लाख, एक्सिस बैंक में 1.57 लाख रुपए जमा कराए थे। अखिलेश सिंह के नाम से दो खाते पंजाब नेशनल बैंक में 1.21 लाख रुपए और एसबीआई में 2.30 लाख रुपए जमा थे। पुलिस ने दंपती के सभी बैंक खातों को फ्रीज करवा दिया है।
पुलिस को मिले 17 पैन कार्ड, 3 आधार 11 वोटर आईडी और 7 ड्राइविंग लाइसेंस
पुलिस के अनुसार 29 मार्च 2017 को बिरसानगर स्थित सृष्टि गार्डन में अखिलेश के फ्लैट में छापेमारी में कई कागजात बरामद किए गए थे। सभी कागजात अखिलेश की अवैध प्रॉपर्टी और बैंक खाताें से जुड़े थे। दस्तावेज मनोज सिंह, संजय सिंह, अजीत सिंह और दिलीप सिंह के नाम से थे, जबकि फोटो अखिलेश के थे। पुलिस ने 17 पैन कार्ड, 3 आधार, 11 वोटर आईडी व 7 ड्राइविंग लाइसेंस समेत विभिन्न शहरों में जमीन व मकान के कागजात भी जब्त किए। मामले में पुलिस ने बिरसानगर थाने में तत्कालीन डीएसपी सिटी अनिमेष नैथानी के बयान पर अखिलेश व गरिमा के खिलाफ जाली कागजात बनाने की प्राथमिकी दर्ज की थी। जिला पुलिस ने अखिलेश की प्रॉपर्टी जब्त करने के लिए ईडी को पत्र लिखा था। मई 2017 से ईडी जांच में जुटी थी।
जब्त की गईं कुल प्रॉपर्टी
– एक करोड़ रु. मूल्य का फ्लैट देहरादून में।
– 2 करोड़ 25 लाख का प्लॉट ग्रेटर नोएडा में।
– 20 लाख रुपए का प्लॉट जबलपुर में।
– 45 लाख का एक अन्य प्लॉट जबलपुर में।
– 1.20 करोड़ रुपए की जमीन जबलपुर में।
– दो करोड़ रुपए मूल्य का घर हरियाणा में।
एक्सिस बैंक बैंक ऑफ इंडिया एचडीएफसी बैंक कोटक महिंद्रा ओबीसी, पीएनबी एसबीआई में जमा 67,32,331 रुपए फ्रीज किए गए।
गुड़गांव में पुलिस के हत्थे चढ़े थे दंपती
अखिलेश सिंह और गरिमा सिंह गुड़गांव में पुलिस के हत्थे चढ़े थे। इस दौरान पुलिस को देख अखिलेश सिंह ने गोली चला दी थी। जवाबी कार्रवाई में दो गोली उसके घुटने में लगी थी।
गोलमुरी थाने में खड़े हैं कई वाहन
2012 में तत्कालीन एसपी अखिलेश झा ने अखिलेश सिंह के कई भारी वाहनों को जब्त करवाया था। उक्त वाहन वर्तमान में गोलमुरी व साकची थाना में खड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *