This is India’s first floating market, each boat has two shops

India’s first floating market is now open in Kolkata’s Patuli area in West Bengal. The market houses over 200 shops.
Set up by the Kolkata Metropolitan Development Authority (KMDA), the market functions solely on boats at the lake in Patuli, where shopkeepers sell fruits, vegetables, fish among other produce.
A total of 228 sellers who were earlier moved out from the Patuli VIP market have been rehabilitated at the new place.
Rs 10 crore invested for the market
Around Rs 10 crore has been spent to develop the water body, said councillor of Ward 110 of KMC. To help buyers and shopkeepers reach the boats, wooden walkways have been constructed.
The floating market is 500 meters long and 60 meters wide.
Testing waters
Local residents who frequented Patuli VIP market all these years said the arrangements at the new area seemed to be good.
Amit Saha, a local and one of the first buyers on Wednesday, said: “The arrangements look good. Only, the customers will not be able to choose the vegetables and fruits on their own as is normally done in ordinary markets. Lets see how it works,” he said. Saha bought some guavas on his first visit to the floating market.
New kind of shopping
“There is another market nearby, but I think we will becoming here since this is a new kind of thing and the sellers are the ones we have already been doing business with,” said Ratna Purokayastha, another local resident.
यहां खुला देश का पहला तैरता मार्केट, एक नाव पर लगती हैं दो दुकानें
श्रीनगर की डल झील में भी पानी पर मार्केट है, पर यह फ्लोटिंग मार्केट नहीं है।
कोलकाता. कोलकाता की पतौली झील, एक साल पहले तक गंदगी के चलते यहां कोई आता-जाता नहीं था। आसपास की दुकानें अतिक्रमण के चलते हटा दी गई थीं। दुकानदार बेरोजगार हो गए थे। अब उसी पतौली झील में ममता सरकार ने देश का पहला फ्लोटिंग मार्केट शुरू किया है। यहां सुबह 10 से रात 9 बजे तक लोग रोजमर्रा का सामान खरीद रहे हैं। फ्लोटिंग मार्केट में 114 नावों के ऊपर 228 दुकानें बनाई गई हैं। एक नाव पर दो दुकानें लगती हैं। मार्केट के बीच में एक रास्ता बनाया गया है। इसके दोनों ओर दुकानें लगतीं हैं। मार्केट को बसाने में 10 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। यह 500 मीटर लंबे और 60 मीटर चौड़े इलाके में फैला है। प्रवेश नि:शुल्क है। इसका उद्धाटन 25 जनवरी को हुआ था।
खरीददारी के साथ घूमने और सेल्फी लेने का क्रेज
– यह फ्लोटिंग मार्केट कोलकाता में मशहूर हो गया है। सनातन दास जो यहां सब्जी की दुकान लगाते हैं, बताते हैं कि लोग यहां सामान बाद में खरीदते हैं। सेल्फी और फोटो खींचने का काम पहले करते हैं।
यह एशिया का तीसरा फ्लोटिंग मार्केट है
– एशिया में थाईलैंड के बैंकॉक और सिंगापुर में भी फ्लोटिंग मार्केट हैं। पतौली मार्केट को इन्हीं के मॉडल पर बनाया गया है। श्रीनगर की डल झील में भी पानी पर मार्केट है, पर यह फ्लोटिंग मार्केट नहीं है।
4 से 5 हजार लोग रोजाना इस मार्केट में आ रहे हैं
– कोलकाता की पतौली फ्लोटिंग मार्केट में रोजाना 4 से 5 हजार लोग पहुंच रहे हैं। मार्केट में सब्जी, मछली, मीट और किराने के साथ चाय, नाश्ते, रजाई गद्दे, कपड़े, नाई आदि की दुकानें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *